CAA: ममता के मंत्री ने अमित शाह को धमकाया तो बांग्लादेश ने वीजा देने से किया मना

पश्चिम बंगाल में ममता सरकार में मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी ने नागरिकता कानून पर कुछ दिन पहले अमित शाह को धमकी दी थी. इसके बाद बांग्लादेश ने उनको अपने यहां आने से रोक दिया है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 26, 2019, 11:00 AM IST
    • ममता सरकार में मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी को बांग्लादेश ने वीजा देने से किया मना
    • सिद्दिकुल्ला ने शाह को बंगाल ना घुसने की दी थी चुनौती
    • गुरुवार को बांग्लादेश जाना चाहते थे सिद्दिकुल्ला
CAA: ममता के मंत्री ने अमित शाह को धमकाया तो बांग्लादेश ने वीजा देने से किया मना

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार के मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी को बढ़ा झटका लगा. दो दिन पहले ही सिद्दीकुल्ला ने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को धमकी दी थी कि नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में वह उन्हें कोलकाता के एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने देंगे. अब सिद्दीकुल्ला चौधरी को झटका देते हुए बांग्लादेश सरकार ने वीजा देने से मना कर दिया है. सिद्दीकुल्ला को कट्टरपंथी नेता मानते हुए बांग्लादेश ने ऐसा किया.

सिद्दिकुल्ला ने शाह को बंगाल ना घुसने की दी थी चुनौती

कुछ दिन पहले मंत्री सिद्दिकुल्ला ने अमित शाह को बंगाल ना घुसने की चुनौती दी थी. उन्होंने कहा था कि अगर गृह मंत्री अमित शाह नागरिकता संशोधन कानून को लागू करते हैं तो उन्हें बंगाल घुसने नहीं दिया जाएगा. बंगाल सरकार शुरू से ही नागरिकता कानून और NRC के विरोध में रही है. ममता बनर्जी पहले ही कह चुकी हैं कि वो पश्चिम बंगाल में NRC लागू नहीं करने देंगी.

सिद्दिकुल्ला ने CAA वापस लेने की दी थी धमकी

CAA के विरोध में जमीयत-ए-हिंद की रैली में जमीयत-ए-हिंद के प्रदेश अध्यक्ष सिद्दिकुल्ला चौधरी कहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो हमलोग उन्हें (अमित शाह को) शहर के हवाईअड्डे के बाहर कदम नहीं रखने देंगे. उन्हें रोकने के लिए हमलोग एक लाख लोग को वहां जमा कर सकते हैं. राज्य के पुस्तकालय सेवा मंत्री ने दावा किया कि संगठन का प्रदर्शन लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण होगा. 

 गुरुवार को बांग्लादेश जाना चाहते थे सिद्दिकुल्ला

पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री सिद्दिकुल्ला चौधरी आज बांग्लादेश जाना चाहते थे लेकिन ठीक समय पर बांग्लादेश के उप उच्चायुक्त ने उन्हें वीजा देने से इनकार कर दिया. वजह तो अभी तक स्पष्ट नहीं हुई लेकिन माना जा रहा है कि उनकी कट्टरपंथी सोच और विवादित बयानों के चलते बांग्लादेश ने ऐसा किया है.

ये भी पढ़ें- CAA की आड़ में हुई लखनऊ हिंसा का कश्मीर कनेक्शन

 
 
 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़