• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 3,19,840 और अबतक कुल केस- 9,36,181: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 5,92,032 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 24,309 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 63.02% से बेहतर होकर 63.23% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 20,572 मरीज ठीक हुए
  • दुनिया भर के अन्य देशों की तुलना में भारत में प्रति दस लाख की जनसंख्या पर सबसे कम मामले और सबसे कम मौतें हुई हैं
  • कोरोना के कुल मामलों में 86% मामले दस राज्यों से हैं
  • देश में 2 स्वदेशी टीकों को इस महीने मानव परीक्षण का प्रारंभिक चरण शुरू करने की मंजूरी मिली
  • WHO द्वारा दिए गए व्यापक परीक्षण मार्गदर्शन के अनुसार 22 राज्य प्रति दिन कोविड-19 के 140 सैंपल प्रति 10 लाख टेस्टिंग कर रहे हैं
  • IIT दिल्ली द्वारा विकसित दुनिया की सबसे किफायती प्रोब फ्री RT-PCR आधारित कोविड-19 डायग्नोस्टिक किट आज लॉन्च की जाएगी
  • वंदे भारत मिशन: 650K से अधिक भारतीय स्वदेश लौटे और 80K से अधिक विदेश की यात्रा पर गए
  • कोविड मुक्त यात्रा सुनिश्चित करने के लिए भारतीय रेलवे पहला 'पोस्ट कोविड कोच' चलाने के लिए तैयार है

कोरोनाः पंजाब में नहीं मान रहे थे लॉकडाउन, लगाना पड़ा कर्फ्यू

पंजाब में कोरोनावायरस संक्रमण के 31 मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को पूरे पंजाब में 31 मार्च तक कर्फ्यू लागू कर दिया. अमरिंदर ने कहा कि कर्फ्यू में किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी. अगर किसी के लिए बेहद जरूरी हो तो वजह बताने पर उसे तय वक्त के लिए ही रियायत दी जाएगी.

कोरोनाः पंजाब में नहीं मान रहे थे लॉकडाउन, लगाना पड़ा कर्फ्यू

चंडीगढ़ः कोरोना, यानी एक को बीमारी और शहर भर को आफत, लेकिन, अफसोस है कि लोग इसे समझने की कोशिश ही नहीं कर रहे हैं और इटली जैसा भयावह उदाहरण सामने होने के बाद भी लापरवाही बरत रहे हैं. यही हाल पजाब में है. यहां लॉकडाउन के आदेश का उल्लंघन होने के बाद कर्फ्यू घोषित करना पड़ा.

संक्रमण रोकने के लिए राज्य में धारा 144 लगाई गई थी, फिर लॉकडाउन कर दिया गया था, लेकिन इसका असर दिखाई नहीं दिया और नए केस सामने आते रहे.

भारत में लॉकडाउन की "अग्निपरीक्षा"! अबतक 8 की मौत, 420 से ज्यादा मामले

सीएम ने की घोषणा
पंजाब में कोरोनावायरस संक्रमण के 31 मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को पूरे पंजाब में 31 मार्च तक कर्फ्यू लागू कर दिया. अमरिंदर ने कहा कि कर्फ्यू में किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी. अगर किसी के लिए बेहद जरूरी हो तो वजह बताने पर उसे तय वक्त के लिए ही रियायत दी जाएगी.

कर्फ्यू के दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. सोमवार सुबह पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टर अमरिंदर सिंह ने राज्य के मुख्य सचिव और प्रदेश के डीजीपी के साथ 3 घंटे की मैराथन मीटिंग की. इसमें यह चर्चा हुई कि लोग लॉकडाउन को नहीं मान रहे हैं, इसलिए कर्फ्यू लगाना जरूरी है. 

ट्रेस नहीं हो पा रहे विदेश से आए लोग
कई लोग विदेशों से लौटे और बाहर और घूम रहे है. एक आंकड़े के मुताबिक पंजाब के 28 लाख लोग विदेशों में रहते हैं. अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द होने के पहले कई लोग पंजाब लौट चुके थे. विदेश मंत्रालय के मुताबिक, दुनियाभर में 28 लाख 19 हजार 835 भारतीय बसे हैं.

कई देशों से पिछले दिनों कई लोग लौटे, जो ट्रेस नहीं हो पा रहे हैं. इनमें से कई लोगों ने अपने पते और फोन नंबर भी गलत लिखवाए हैं. अकेले जालंधर में 13 हजार एनआरआई हैं, जिन्हें ट्रेस करना मुश्किल हो रहा है. 

एक दिन का वेतन देंगें आईएएस
सोमवार को सरकार ने घोषणा की कि प्रदेश के आईएएस अफसर अपनी एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत फंड में जमा कराएंगे, ताकि प्रदेश में संक्रमित लोगों की मदद की जा सके और व्यवस्था बनाई रखी जा सके.

 

राज्य सरकार की ओर से जारी बुलेटिन में बताया गया है कि पंजाब में 203 संदिग्ध मामलों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 160 लोग निगेटिव पाए गए हैं. 22 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है.

कोरोना वायरस की वजह से पाकिस्तान में भीषण दुर्दशा, मर रहे लोग

लोग नहीं मान रहे सरकारी आदेश
पंजाब के साथ सबसे बड़ी समस्या है कि यहां लोग स्वास्थ्य संबंधी हिदायतों को दरकिनार कर रहे हैं. यहां चूड़िया में एक घर में सत्संग रखा गया था, जहां तकरीबन 70 लोग पहुंच गए. इसके फाइनेंसर को गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि प्रदेश में 20 से अधिक लोगों के जुटने पर मनाही थी. इसी तरह संगरूर में शादी समारोह में 500 लोग पहुंच गए. पुलिस ने बैंक्वेट के मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया है.