मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के किसानों को दिया जबरदस्त तोहफा

दिल्ली में चुनाव जल्दी ही आने वाले हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के किसानों को जबरदस्त तोहफा दिया है. दिल्ली में कृषि भूमि के सर्कल रेट में भारी इजाफा किया है.   

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के किसानों को दिया जबरदस्त तोहफा
चुनावी साल में मुख्यमंत्री केजरीवाल का जबरदस्त दांव

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. साल 2008 के बाद पहली बार दिल्ली में कृषि भूमि का सर्कल रेट बढ़ा दिया गया है. 

किसानों को होगा भारी लाभ
अरविंद केजरीवाल की नई घोषणा के बाद अब दिल्ली सरकार ने कृषि भूमि का सर्कल रेट 53 लाख से बढ़ा कर 2.25 करोड़ से 5 करोड़ तक करने का महत्वपूर्ण फैसला लिया है. दिल्ली सरकार की कैबिनेट ने इसे बुधवार को पास कर दिया है. अब इसे मंजूरी के लिए उप राज्यपाल को भेजा जाएगा. वहां से मंजूरी मिलने के बाद दिल्ली के लोगों को बढ़े हुए दर का फायदा मिल सकेगा. 

भूमि अधिग्रहण होने के बाद जमीन मालिक को होगा फायदा
दिल्ली सरकार की नई योजना के तहत अब दिल्ली में अब कोई भी जमीन अधिग्रहण की जाएगी, उसका रेट 2.25 करोड़ से 5 करोड़ रुपये प्रति एकड़ दिया जाएगा. अभी तक दिल्ली के अंदर कृषि भूमि का सर्कल रेट 53 लाख रुपये प्रति एकड़ होता था.  

पहले उप राज्यपाल ने कर दिया था इनकार
इस प्रस्ताव के बारे में बताते हुए अरविंद  केजरीवाल ने जानकारी दी कि जब हमारी सरकार आई थी, तब दो-तीन साल पहले भी सर्किल रेट बढ़ाया गया था. लेकिन तत्कालीन एलजी साहब ने इसे मंजूरी देने से इन्कार कर दिया था. जिसके बाद दिल्ली सरकार सुप्रीम कोर्ट चली गई. 

 सुप्रीम कोर्ट का फैसला दिल्ली सरकार के पक्ष में आने के बाद एक कमेटी बनाई गई. जिसकी रिपोर्ट आ गई हैं और अब कैबिनेट ने फैसला लिया है कि दिल्ली की कृषि भूमि जो ग्रीन बेल्ट में है, शहरी या ग्रामीण क्षेत्र में है, उनके सर्कल रेट 53 लाख रुपये से बढ़ा कर 2.25 करोड़ से 5 करोड़ रुपये प्रति एकड़ कर दिया गया है.  यह सर्कल रेट अलग-अलग जिलों में अलग-अलग हो सकता है, लेकिन किसान को कम से कम 2.25 करोड़ रुपये सर्कल रेट मिलेगा. 

अब भी एलजी के फैसले पर टिकी है उम्मीदें
दिल्ली सरकार अब यह प्रस्ताव एक-दो दिन में एलजी के पास अप्रूवल के लिए भेज देगी. मुख्यमंत्री केजरीवाल का कहना है कि हमें उम्मीद है कि एलजी साहब को इसे अप्रूवल देने में कोई परेशानी नहीं होगी. क्योंकि इससे पहले 2008 में सर्कल रेट बढ़ा था.  करीब 11 साल बाद दिल्ली में कृषि भूमि का सर्कल रेट बढ़ाया गया है. 

काफी समय से किसान कर रहे थे मांग
दिल्ली में कृषि भूमि की सर्कल दरों में बढ़ोत्तरी के लिए दिल्ली के किसान लंबे समय से मांग कर रहे थे. लेकिन 2008 के बाद से इसे संशोधित नहीं किया गया और प्रचलित बाजार दरों की तुलना में सभी श्रेणी के गांवों के लिए प्रति एकड़ 5 लाख रुपये की वर्तमान सर्कल दर बहुत कम था.  सर्कल रेट और  और प्रचलित बाजार दरों में इस तरह के अंतर के कारण दिल्ली के किसानों को सरकार की विभिन्न योजनाओं और अन्य परियोजनाओं के लिए उनकी भूमि के अधिग्रहण के समय उनकी सही राशि नहीं मिल रही थी. 

दिल्ली के नए सर्कल रेट कुछ प्रकार हैं-

जिले का नाम        ग्रीन बेल्ट गांवों के          शहरी गांवों के      ग्रामीण गांवों के

                          लिए प्रस्तावित दरें          लिए प्रस्तावित दरें       के लिए प्रस्तावित दरें

                         (प्रति एकड़,               (प्रति एकड़,             (प्रति एकड़,

                         करोड़ रुपये में)           करोड़ रुपये में)       करोड़ रुपये में)

साउथ                    5.00                        5.00                   5.00

नार्थ                     3.00                          3.00                   3.00

वेस्ट                    3.00                          3.00                 3.00

नार्थ-वेस्ट              3.00                          3.00                3.00

साउथ-वेस्ट            3.00                       4.00                3.00

नई दिल्ली            5.00                        5.00               5.00

सेंटल दिल्ली        0.00                        2.50               2.50

साउथ-ईस्ट         0.00                        4.00              2.50

शाहदरा             2.25                        2.25             2.25

नार्थ-ईस्ट           0.00                       2.25              2.25

ईस्ट                 0.00                        2.25             2.25