चीनी घुसपैठ: भारत और चीन के बीच सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी

भारत और चीन के बीच घुसपैठ खत्म करने के लिए दोनों देशों के बीच मेजर जनरल स्तर की बातचीत चल रही है. सीमा का अतिक्रमण करके चीनी सैनिक भारत की सीमा में घुस गए थे.

चीनी घुसपैठ: भारत और चीन के बीच सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी

नई दिल्ली: गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों के बीच कई बार बातचीत हुई है और तनाव कम करने की कोशिश हुई है. इस बार गलवान क्षेत्र के उत्तर में डेपसांग के मैदानी इलाकों से सैनिकों को हटाने के लिए भारत और चीन के बीच मेजर जनरल-स्तरीय बातचीत जारी है.

आपको बता दें कि  यह बातचीत दौलत बेग ओल्डी में चल रही है. भारत की तरफ से 3 माउंटेन डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल अभिजीत बापट वार्ता नेतृत्व कर रहे हैं.

डेपसांग के मैदानी इलाकों से सैनिकों को पीछे हटाने के वार्ता

आपको बता दें कि भारतीय सेना की डेपसांग के मौदानों में अच्छी पैठ है जबकि पीपल्स लिबरेशन आर्मी अपने पूर्वी छोर पर है. आज की बैठक में 16,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित 900 वर्ग किलोमीटर के मैदानों से सैनिकों को वापस बुलाने और वहां से हटाने की प्रणाली पर काम करने के बारे में चर्चा की जाएगी.

क्लिक करें- बच्चन परिवार हुआ कोरोना मुक्त, अभिषेक बच्चन ने भी दी कोरोना वायरस को मात

गौरतलब है कि जून में भारत चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी जिसमें चीन को भारत ने करारा सबक सिखाया था. भारत के 20 सैनिक इस झड़प में वीरगति को प्राप्त हुए थे और भारत के सैनिकों ने चीन के 40 से अधिक सैनिक मार गिराए थे.

क्लिक करें- केरल विमान हादसे से दुखी देश, जानिए किसने क्या दी प्रतिक्रिया

उल्लेखनीय है कि भारतीय सेना डेपसांग के मैंदानों में  बहुत मजबूत मानी जाती है जबकि पीपल्स लिबरेशन आर्मी अपने पूर्वी छोर पर है.सेना की मजबूती देखते हुए चीन उखड़ गया था. चीनी सैनिक दौलत बेग ओल्डी के रणनीतिक एयरफील्ड से से 25 किलोमीटर दूर 'बॉटलनेक' नाम के क्षेत्र पर फोकस कर रहे हैं.