गुजरात के बनासकांठा में CAA की आड़ में उपद्रवियों ने पुलिस को बनाया निशाना

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बवाल का सिलसिला चरम पर है. गुजरात से दंगाइयों की तस्वीरें सामने आ रही हैं, जहां पुलिस पर हमला किया गया. बनासकांठा में पुलिस पर दंगाइयों ने हमला कर दिया, तो अहमदाबाद में पुलिसवालों को जान से मारने की कोशिश की गई.

गुजरात के बनासकांठा में CAA की आड़ में उपद्रवियों ने पुलिस को बनाया निशाना

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून की आड़ में देश भर में दंगाइयों का तांडव देखने को मिल रहा है. बवाल, प्रदर्शन, आगजनी और लोगों पर हमले के साथ-साथ अब उपद्रवी पुलिस को भी टारगेट कर रहे हैं. दिनदहाड़े पुलिस के जवानों की पिटाई का सिलसिला तेज होता जा रहा है.

पुलिस की वैन पर दंगाई का हमला

बनासकांठा में पुलिस की वैन को भीड़ ने घेर लिया. भीड़ में ही कुछ लोगों ने बीच-बचाव करके वैन के लिये रास्ता बनाया, वर्ना कुछ भी हो सकता था. क्योंकि देख सकते हैं कि गाड़ी को घेरने वाली भीड़ कितनी ज्यादा थी. तस्वीरों को देखने के बाद शायद ऐसे लोगों की जुबान पर ताला लग जाएगा. जो लोग दंगाइयों के मानवाधिकार की बात करते हैं उनके सामने एक सवाल जरूर खड़ा होगा. क्या पुलिस वालों का मानवाधिकार नहीं होता?

गुजरात के बनासकांठा से भी पुलिस के साथ बदसलूकी और मारपीट का वीडियो सामने आया है. उपद्रवियों के बीच फंसे पुलिस की वाहन के साथ भीड़ किस तरह का सुलूक कर रही है देखा जा सकता है. प्रदर्शन के लिए इकट्ठा हुई भीड़ ने यहां भी पुलिस वालों को अपना निशाना बनाया है.

अहमदाबाद में भी भीड़ की उत्पात

गुजरात के ही अहमदाबाद से भी कई वीडियो सामने आए हैं. जिसमें पुलिस उपद्रवी पुलिस की वाहन और पुलिस पर पत्थर फेंक रहे हैं. एक वीडियो में ये देखा गया कि बस के पीछे ही कुछ पुलिस वाले और पुलिस के वाहन भागते नजर आते हैं. इस दौरान एक पुलिस वाला भागते हुए फिसल जाता है. और फिर वहां पर मौजूद कुछ दंगाई पुलिसवाले की बुरी तरह से पिटाई करनी शुरू कर देते हैं. 

इसे भी पढ़ें: अहमदाबाद में दंगाइयों की ना'पाक' करतूत! पुलिसवालों को जान से मारने की कोशिश

फिलहाल उपद्रवियों की पहचान कर उन पर कार्रवाई शुरू हो चुकी है. लेकिन गुजरात से आए ये वीडियो देखने के बाद उन लोगों की जुबान जरूर बंद हो जाएगी जो ऐसे दंगाइयों पर सख्ती का विरोध करते हैं.

इसे भी पढ़ें: नागरिकता कानूनः अलर्ट पर दिल्ली पुलिस, जवानों की छुट्टियां रद्द