क्यों सांसदों से नाराज हुए पीएम मोदी, बोले- आपसे बार-बार बच्चों की तरह नहीं कहूंगा

भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसदों को कड़ी फटकार लगाई और जरूरी निर्देश दिए.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 7, 2021, 12:14 PM IST
  • पीएम मोदी ने सांसदों की दी कड़ी नसीहत
  • संसद में सक्रिय भागीदारी के दिए निर्देश

ट्रेंडिंग तस्वीरें

क्यों सांसदों से नाराज हुए पीएम मोदी, बोले- आपसे बार-बार बच्चों की तरह नहीं कहूंगा

नई दिल्लीः संसद से गायब रहने वाले भाजपा सांसदों को पीएम मोदी ने कड़ी फटकार लगाई. प्रधानमंत्री ने सांसदों से कहा कि बार-बार बच्चों की तरह आप लोगों को एक ही बात कहना ठीक नहीं है. आप अपने व्यवहार में बदलाव लाइये.

संसद में उपस्थित रहने को कहा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा संसदीय दल की बैठक में बोल रहे थे. उन्होंने पार्टी के सभी सांसदों को संसद में उपस्थित रहकर विधायी कार्यों में सक्रिय भागीदारी करने का निर्देश दिया. 

'व्यवहार नहीं बदला तो परिवर्तन हो जाएगा'
सूत्रों के मुताबिक, उन्होंने सभी सांसदों को संसद में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश देते हुए कहा कि बार-बार बच्चों की तरह आप लोगों को एक ही बात कहना ठीक नहीं है. मोदी ने सांसदों से सख्त लहजे में कहा कि आप लोग अपने-अपने व्यवहार में परिवर्तन लाइए, नहीं तो परिवर्तन हो जाता है.

जेपी नड्डा ने सांसदों को दिया टास्क
बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभी सांसदों को संसद के शीतकालीन सत्र के बाद अपने-अपने संसदीय क्षेत्रों में जाकर जिलाध्यक्षों और मंडल अध्यक्षों के साथ संवाद करने और उन्हें चाय पर चर्चा के लिए बुलाने के लिए कहा.

14 दिसंबर को चाय पर चर्चा करेंगे मोदी
इस पर पीएम मोदी ने तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह 14 दिसंबर को वाराणसी में अपने संसदीय क्षेत्र के जिलाध्यक्ष और मंडल अध्यक्षों को चाय पर बुलाएंगे.
 
पीएम ने सांसदों को निरंतर संवाद का दिया निर्देश
भाजपा संसदीय दल की बैठक के बारे में जानकारी देते हुए केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी सांसदों को सांसद खेल स्पर्धा, सांसद तंदुरुस्त बाल स्पर्धा, सूर्य नमस्कार स्पर्धा का आयोजन करने के साथ-साथ अपने-अपने क्षेत्रों में रहने वाले पद्म पुरस्कार विजेताओं के संपर्क में रहने और उनके साथ निरंतर संवाद करने का भी निर्देश दिया.

यह भी पढ़िएः पहले 'भारत तेरे टुकड़े होंगे' और अब 'फिर बनाओ बाबरी', जानें जेएनयू के 5 बड़े विवाद

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़