• पूरे देश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामले अभी तक 4312 हैं, अभी तक 124 लोगों की मृत्यु हुई, 353 लोग इलाज के बाद ठीक हुए
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की देखभाल के लिए अस्पताल और अन्य सुविधाओं को तीन भागों में बांटा.
  • भारतीय रेलवे अपने डॉक्टरों और चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के लिए हर रोज एक हजार पीपीआई किट का निर्माण करेगी
  • कोरोना से निपटने के लिए राहत कार्यों में योगदान देने के लिए पूर्व सैनिकों ने स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान की
  • लॉकडाउन के बीच जहाजों का आवागमन होगा, पोत परिवहन मंत्रालय ने सुनिश्चित किया
  • सरकार के दीक्षा ऐप पर कोरोना से जूझने वालों के लिए इंटीग्रेटेड ऑनलाइन गवर्नमेन्ट ट्रेनिंग यानी IGOT कोर्स लाया गया है
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की चपेट में 1,428,428, अब तक कुल 82,020 की मौत हो चुकी है. 3,00,198 मरीज ठीक भी हुए.
  • राज्यों में कुल कोरोना संक्रमण- महाराष्ट्र में 1161, तमिलनाडु में 690, दिल्ली में 606, तंलंगाना में 404, केरल में 336
  • उत्तर प्रदेश में 332 राजस्थान में 343, आंध्र में 324, मध्य प्रदेश में 280, कर्नाटक में 204, गुजरात में 168

निर्धारित मॉडल पर ही बनेगा राम मंदिर, नृत्य गोपाल दास का ऐलान

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष मंहत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि राम मंदिर उसी मॉडल पर बनेगा जो पहले से निर्धारित है.

निर्धारित मॉडल पर ही बनेगा राम मंदिर, नृत्य गोपाल दास का ऐलान

दिल्ली: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने शुक्रवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण वहीं होगा, जहां रामलला विराजमान हैं और यह मंदिर उसी मॉडल पर बनेगा, जो पहले से दिखाया गया है. आपको बता दें कि राम मंदिर निर्माण के लिये बनाए गये ट्रस्ट में महंत नृत्य गोपाल दास को अध्यक्ष बनाया गया है. इस ट्रस्ट को सरकार ने राम मंदिर के निर्माण के संबंध में कोई भी निर्णय लेने की स्वतंत्रता प्रदान की है.

जहां रामलला विराजमान वहीं बनेगा मंदिर

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने स्पष्ट किया कि मंदिर का भूमि पूजन और शिलापूजन तो पहले ही हो चुका है और केवल शिलाएं रखी जानी जानी है. दास ने बताया, ''जिस स्थान पर अयोध्या में रामलला विराजमान हैं, वहीं पर मंदिर बनेगा और यह काम छह महीने के भीतर शुरू हो जाएगा." मंदिर निर्माण के बारे में उन्होंने बताया, ''जो मॉडल पहले अयोध्या में रखा गया है, उसी के अनुसार राम मंदिर का निर्माण होगा.

किसी से चंदा नहीं मांगेंगे

जब उनसे सवाल किया गया कि मंदिर निर्माण के लिए धन कहां से आएगा, तो इस पर उन्होंने कहा, ''राम मंदिर निर्माण के लिए न तो चंदा लिया जाएगा और न ही सरकार से धन मांगेगे. जो भी भगवान के भक्त सहयोग करेंगे, उसी से मंदिर का निर्माण होगा. 

'मंदिर निर्माण से पर्यटन उद्योग चमकेगा'

केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री प्रह्लाद पटेल ने शुक्रवार को कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण से इसे देखने के लिए बड़ी तादाद में देशी-विदेशी पर्यटक आएंगे, जिससे देश में पर्यटन उद्योग को फायदा होगा. उन्होंने कहा कि इससे वर्ष 2024 तक पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने में पर्यटन उद्योग अहम भूमिका निभाएगा. उन्होंने बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के तहत वर्तमान में करीब 2,691 स्मारक हैं, जो बढ़कर 10,000 तक हो सकते हैं.

शांति से बने राम मंदिर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवगठित श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों से कहा कि मंदिर का निर्माण शांति एवं सौहार्द के माहौल में होना चाहिए. किसी भी तरह की कड़वाहट पैदा नहीं होनी चाहिए. बता दें कि महंत नृत्य गोपाल दास की अगुवाई में ट्रस्ट के चार सदस्यों ने 20 फरवरी को प्रधानमंत्री से उनके आवास पर मुलाकात की थी और उन्हें भूमि पूजन के लिए अयोध्या आने का निमंत्रण दिया था.

ये भी पढ़ें- मुलाकात में ट्रस्टियों ने PM मोदी को दिया राम मंदिर के भूमिपूजन का न्योता