लेफ्ट के बाद अब तेजस्वी के नेतृत्व में CAA पर किया गया बिहार ठप

देशभर में कई जगहों पर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है. बिहार में राजद ने आज मोर्चा खोला है. राजद के तमाम बड़े नेता इस कानून के विरोध में राजधानी पटना की सड़कों पर उतरे हैं.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 21, 2019, 02:10 PM IST
    • राजधानी की सभी मुख्य सड़क मार्ग पटी हुई भीड़ से
    • महागठबंधन नेता खुले तौर पर नहीं हुए शामिल
    • हिंसक नहीं होगा राजद का प्रदर्शन
लेफ्ट के बाद अब तेजस्वी के नेतृत्व में CAA पर किया गया बिहार ठप

पटना: राजधानी में आज बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद ने CAA को लेकर आक्रोश मार्च का आयोजन किया है. बिहार बंद का ऐलान राजद ने पहले ही कर दिया था. इसमें राजद के तमाम बड़े नेता पहुंचे हुए हैं. राजद के फिलहाल के सर्वेसर्वा तेजस्वी यादव के साथ तकरीबन 10 हजार लोगों की भीड़ ने इस कानून के विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन किया. तेजस्वी यादव, जगदानंद सिंह और कुछ बड़े राजद नेताओं के साथ लोगों ने पोस्टर और बैनरों के सहारे कानून का विरोध किया. 

राजधानी की सभी मुख्य सड़क मार्ग पटी हुई भीड़ से

राजद का सरकार के खिलाफ यह विरोध प्रदर्शन उन तमाम मोर्चों पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार को घेरने के लिहाज से किया गया है. पटना के डाकबंगला चौराहा से लेकर गांधी मैदान तक और जंक्शन तक यह भीड़ फैली हुई थी. हालांकि, यह विरोध प्रदर्शन राजद की ओर से बुलाया गया है, लेकिन इसमें महागठबंधन के अन्य घटक दल भी शामिल होंगे. 

महागठबंधन नेता खुले तौर पर नहीं हुए शामिल

पिछले कुछ दिनों से महागठबंधन के सभी घटक दलों में सामंजस्य की कमी दिख रही है. हाल ही में महागठबंधन नेताओं ने प्रेस वार्ता का आयोजन किया था जिसमें तेजस्वी यादव या राजद का कोई भी बड़ा नेता शामिल नहीं हुआ. जब घटक दल के प्रमुखों से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि तेजस्वी क्यों नहीं आए, इसका जवाब वहीं देंगे. 

यह भी पढ़ें. नागरिकता कानूनः हिंसा ने दिल्ली के बाजारों का डुबाया 1500 करोड़

हिंसक नहीं होगा राजद का प्रदर्शन 

इस प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. किसी भी तरह के हिंसक प्रदर्शन को करने की पहले ही मनाही कर दी गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो राजद के तेजस्वी यादव ने आयोजनकर्ताओं और सभी कार्यकर्ताओं को आगाह कर दिया था कि किसी भी तरह के हिंसक प्रदर्शन की जरा सी भनक मिलते ही उपद्रवियों पर कार्रवाई की जाएगी.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़