CAA के खिलाफ बवाल ने कर्नाटक और एमपी के बिगाड़े हालात

कर्नाटक और मध्यप्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बवाल कटा हुआ है. दंगाइयों ने इस कदर हुड़दंगई कर रखी है कि हर तरफ कोहराम मच गया है. जिसे देखते हुए पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है.

CAA के खिलाफ बवाल ने कर्नाटक और एमपी के बिगाड़े हालात

नई दिल्ली: नागरिकता कानून को लेकर देश के कई शहरों में फैली आग अभी शांत नहीं हुई है. कर्नाटक में दंगाइयों ने इतना उत्पात मचाया कि हर तरफ कोहराम मचा हुआ है. बवाल को देखते हुए मेंगलुरु में अगले तीन दिनों के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है.

पुलिस फायरिंग में दो लोगों की मौत

कर्नाटक के मेंगलुरु में कल प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में दो लोगों के मारे जाने के बाद से पूरे राज्य में अलर्ट है. एहतियातन मेंगलुरु सिटी के साथ-साथ पूरे साउथ कन्नडा जिले में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है.

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में भी लगातार प्रदर्शन को देखते हुए धारा 144 लगा दी गई है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि भीड़ सड़क पर आकर बेकाबू न हो जाए. 

मध्यप्रदेश के 43 जिलों में धारा 144 लागू

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए मध्य प्रदेश में भी खास चौकसी बरती जा रही है. प्रदेश के 52 जिलों में से 43 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है. पुलिस ने कहा है कि लोग अफवाह पर ध्यान न दें.

डीआईजी, लॉ एंड ऑर्डर मनोज शर्मा ने बताया है कि '43 जिले हैं जहां स्थानीय प्रशासन ने स्थानीय परिस्थितियों को देखते हुए धारा 144 लागू की हैं. कहीं से भी किसी तरह की अराजकता की सूचना नहीं है.'

कौन बुन रहा अफवाहों का जाल?

सवाल ये उठ रहा है कि कौन फैला रहा है अफवाहों का जाल? नागरिकता कानून के नाम पर देश को आग में झोंकने की साजिश रची गई. मोदी के नाम से मुस्लिमों को डराकर कौन देश में आग लगाना चाहता है. देश में अभी तक तीन लोगों की जान जा चुकी है. जिसमें दो की मौत कर्नाटक के मैंगलुरू में हुई.

इसे भी पढ़ें: CAA की आड़ में देश को हिंसा और आग में झोंकने की साजिश! पढ़ें: 5 बड़े अपडेट

गुजरात के अहमदाबाद और बनासकांठा में भी पुलिस पर हमले हुए, दंगा कराने की कोशिश की गई. इतना ही नहीं गुजरात में पुलिसवालों को घेरकर मारने की साजिशें हुईं. जिसके बाद पूरे देश में पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है. वहीं राजधानी दिल्ली में आज भी प्रदर्शन हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: यूपी में अफवाह की आग पर शिकंजा के लिए इंटरनेट सेवा बंद