जब दीक्षित ने पुलिस को कहा खुद का भ्रष्टाचार कैसे मिटाओगे?

उत्तरप्रदेश का मुजफ्फरनगर एक बार फिर सुर्खियों में है. इस बार मामला पुलिस और मुस्लिम परिवार के बीच का है. इस नए मामले में दिल्ली कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित का ताजा बयान आया है जो पुलिस को भ्रष्टाचार में संलिप्त बता कर करतूतों को छुपाने का आरोप लगा रहे हैं.   

 जब दीक्षित ने पुलिस को कहा खुद का भ्रष्टाचार कैसे मिटाओगे?

नई दिल्ली: उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक मुस्लिम परिवार को प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है. देश में हर जगह हो रहे नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में कुछ मामले ऐसे भी हैं जो काफी हिंसक रूप ले चुके हैं. मुजफ्फरनगर में मुस्लिम परिवार को पुलिस ने ही काफी प्रताड़ित किया है. ऐसा रिपोर्ट में सामने आया है. रिपोर्ट में बताया गया कि पुलिस ने मुस्लिम परिवार के घर को क्षति पहुंचाई और उनसे बर्बर तरीके से पेश आए. उन्होंने परिवारवालों को कहा कि तुम्हारे पास सिर्फ दो ही जगह हैं जहां तुम्हे जाना है, एक तो पाकिस्तान या दूसरा कब्रिस्तान. 

दीक्षित ने कहा पुलिस अपना भ्रष्टाचार कैसे मिटाएगी ?

इसके बाद तो जैसे सोशल मीडिया में बयानों की बौछार हो गई है. लोग लगातार इस घटना पर मिली-जुली प्रतिक्रिया दे रहे हैं. इसी बीच दिल्ली के कांग्रेस नेता व दिवंगत शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित ने पुलिस को भ्रष्टाचारी बता दिया है. उन्होंने कहा कि "आधे से ज्यादा पुलिस तो हमारी भ्रष्ट है. सवाल तो यह है कि वो अपना भ्रष्टाचार कैसे मिटाएं?" 

"जितनी भ्रष्ट संस्था उतनी राष्ट्रवाद की बात"

दीक्षित यहीं नहीं रूके. उन्होंने आगे कहा कि "अगर आपको यहीं करना है तो सबसे पहले आप राष्ट्रवादी टाइप का नारा लो, दिखाओ कि हम ऐसा काम करते हैं जिसमें सवाल ना पूछा जाए. जितनी भ्रष्ट संस्था उतनी ज्यादा वो राष्ट्रवाद की बात करेगी. जब कोई पुलिस या फौज ऐसे नारे लगाए, समझ लो कोई काली करतूत वो छिपा रही है."

नागरिकता संशोधन कानून पर हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच अब तक लोगों में तनातनी और तनाव का माहौल था. लेकिन अब इसमें पुलिस का भी नाम सामने आने लगा है. इस मौके पर राजनीतिक रोटियां सेंकने का मौका भी राजनेता नहीं छोड़ने वाले.