• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,10,960 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,26,770: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,09,462 जबकि अबतक 6,348 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • अंतर्राष्ट्रीय टीकाकरण गठबंधन के लिए भारत ने 15 मिलियन डॉलर देने का वचन दिया
  • केंद्र ने 4 जून, 2020 को राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों को जीएसटी मुआवजे के तौर पर 36,400 करोड़ रुपया जारी किया
  • कोविड-19 की रोकथाम हेतु MoHFW ने निवारक उपायों पर एसओपी जारी किया
  • ट्यूलिप– सभी यूएलबीऔर स्मार्ट शहरों में नए स्नातकों को अवसर प्रदान करने के लिए शहरी अध्ययन प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत
  • स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्ली को आक्रामक निगरानी, ​​संपर्क का पता लगाने और कड़े नियंत्रण कार्यों के साथ जांच बढ़ाने की आवश्यकता जोर
  • आइए कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई को मजबूत करें और सरकार द्वारा जारी किए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन करें
  • मनरेगा के तहत मजदूरी और सामग्री दोनों के ही लंबित बकाये को समाप्त करने के लिए राज्यों को 28,729 करोड़ रुपये जारी किए गए
  • पीएमजीकेपी के तहत (02.06.2020 तक): चालू वित्तीय वर्ष में 48.13 करोड़ मानव कार्य-दिवस के रोजगार का सृजन

शरजील की न्यायिक हिरासत बढ़ी, 6 दिन के लिए भेजा गया रिमांड पर

शरजील इमाम को गुरुवार शाम कड़ी सुरक्षा के बीच साकेत के चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के आवास पर पेश किया गया. शरजील को 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था. शाहीन बाग और अलीगढ़ में दिए विवादित भाषण के आरोप में उसकी गिरफ्तारी की गई है. गिरफ्तारी के अगले दिन शरजील को दिल्ली लाया गया.

शरजील की न्यायिक हिरासत बढ़ी, 6 दिन के लिए भेजा गया रिमांड पर

नई दिल्लीः शरजील इमाम पर शिकंजा लगातार कसता जा रहा है. उसे रिमांड पर भेजा गया था, जिसकी अवधि बढ़ा दी गई है. राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम को 6 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. शरजील इमाम को पिछले महीने बिहार से गिरफ्तार कर दिल्ली लाया गया था. जिसके बाद पटियाला हाउस कोर्ट के मुख्य न्यायायिक दंडाधिकारी (सीएमएम) पुरुषोत्तम पाठक ने आरोपी को 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा था. शरजील पर आरोप है कि उसने CAA के विरोध में जारी एक धरने में असम को देश से काटने की बात कही थी. 

28 जनवरी को बिहार से हुआ था गिरफ्तार
शरजील इमाम को गुरुवार शाम कड़ी सुरक्षा के बीच साकेत के चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के आवास पर पेश किया गया. शरजील को 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था. शाहीन बाग और अलीगढ़ में दिए विवादित भाषण के आरोप में उसकी गिरफ्तारी की गई है. गिरफ्तारी के अगले दिन शरजील को दिल्ली लाया गया. इससे पहले कोर्ट ने शरजील इमाम को 3 दिन की पुलिस कस्टडी में देने का आदेश दिया था. उस पर दिल्ली, अलीगढ़, असम पुलिस ने राजद्रोह का केस दर्ज किया है. 

जामिया के 4 छात्रों से की गई है पूछताछ
शरजील इमाम से जुड़े राजद्रोह केस में क्राइम ब्रांच ने जामिया मिलिया इस्लामिया के चार छात्रों से पूछताछ की है. दरअसल दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने शरजील इमाम से जुड़े 11 लोगों को फोन करके पूछताछ में शामिल होने के लिए बुधवार को बुलाया था. इन 11 लोगों में जामिया के छात्र और जामिया-शाहीन बाग में रहने वाले कुछ स्थानीय लोग शामिल थे. शरजील के मोबाइल से उससे जुड़े 15 लोगों की पहचान हुई थी, जिनमें से चार से पहले ही पूछताछ हो चुकी है.

मुंबई में लगे थे शरजील के समर्थन में नारे
शरजील इमाम के समर्थन में मुबई में भी नारे लगे थे. यहां आजाद पार्क में आयोजित एक प्राइड मार्च के दौरान शरजील तेरे सपनों को अंजाम कर पहुंचाएंगे के नारे लगे थे. हालांकि मामला बढ़ने पर मार्च के आयोजकों ने खुद को इस बयान से अलग किया था. भाजपा नेता किरीट सोमैया ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी. मुंबई पुलिस इस मामले में वायरल वीडियो को लेकर जांच की थी. मामले में एक युवती उर्वशी चूड़ावाला समेत कई लोगों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. 

आखिर गुंजा का गुनाह क्या है? पढ़िए उन पर उठाए जा रहे 5 सवाल और उनके जवाब