• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,76,685 और अबतक कुल केस- 7,93,802: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,95,513 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 21,604 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.08% से बेहतर होकर 62.42% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,135 मरीज ठीक हुए
  • पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 19,135 मरीज ठीक हो चुके हैं, ठीक हुए लोगों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर 2 लाख से अधिक है
  • भारत में प्रति मिलियन आबादी पर कोविड-19 के सबसे कम 538 मामले हैं जबकि वैश्विक औसत 1497 हैं
  • MoHFW ने कोविड-19 के हल्के मामलों में HCQ का उपयोग करने की सिफारिश की और गंभीर रोगियों को इसके सेवन से बचने की सलाह दी
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • 750 मेगावाट की रीवा सौर परियोजना से हर साल करीब 15 लाख टन CO2 बराबर कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी, PM राष्ट्र को करेंगे समर्पित
  • मंत्रालय एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना को जनवरी 2021 तक शेष सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में लागू करने के लिए प्रयासरत है
  • MHRD: विज्ञान, तकनीक और कानून आदि जैसे विषयों पर प्राथमिक से PG तक की गुणवत्ता वाली सामग्री विभिन्न प्रारूपों में उपलब्ध है

राफेल की इन 10 खूबियों से समझिए, आखिर भारत को कैसे मजबूत करेगा ये लड़ाकू विमान?

अगले महीने की 27 तारीख को 6 राफेल विमान फ्रांस से भारत आ जाएंगे. जो दुश्मनों के लिए काल का काम करेगा. ऐसे में आपको राफेल की इन 10 खूबियों से परिचित होना अत्यन्त आवश्यक है..

राफेल की इन 10 खूबियों से समझिए, आखिर भारत को कैसे मजबूत करेगा ये लड़ाकू विमान?

नई दिल्ली: अगले महीने यानी जुलाई के 27 तारीख को फ्रांस से 6 राफेल विमानों की खेप भारत आने वाली है. पहले जुलाई में सिर्फ 4 राफेल आने वाले थे, जिसे बढ़ाकर 6 कर दिया गया है. ऐसे में आपको राफेल की खासियतों से रूबरू होना चाहिए.

लड़ाकू विमान की 10 बड़ी खूबियां

यहां आपका ये जानना काफी जरूरी है कि राफेल में ऐसी कौन-कौन सी खूबियां हैं, जो भारत को मजबूत करने में कारगर साबित होंगी. आपको इसकी 10 खूबियां बताते हैं, जो इसे सबसे जुदा बनाती हैं.

1). राफेल दो इंजन वाला लड़ाकू विमान है, जो इंडियन एयरफोर्स की पहली पसंद है. इसे हर तरह के मिशन में भेजा जा सकता है

2). राफेल अत्याधुनिक हथियारों से लैस है, प्लेन के साथ मेटेअर मिसाइल भी है. विमान में फ्यूल क्षमता- 17,000 किलोग्राम किलोग्राम है

3). राफेल हवा से जमीन पर मार वाली स्कैल्प मिसाइल से लैस है जिसकी रेंज 150 किमी की बियोंड विजुअल है. जबकि स्कैल्प मिसाइल की रेंज 300 किलोमीटर है, आपको बता दें कि हथियारों के स्टोरेज के लिए 6 महीने की गारंटी भी है

4). राफेल की अधिकतम स्पीड 2,130 किमी/घंटा है बताया जा रहा है कि राफेल एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है

5). यहां आपका ये भी जानना जरूरी हो जाता है कि राफेल की मारक क्षमता 3700 किलोमीटर तक है. इसके साथ ही ये 4.5 जेनरेशन के ट्विन इंजन से लैस है

6). 24,500 किलोग्राम तक का भार उठाकर ले जाने के लिए राफेल विमान पूरी तरह से सक्षम है, साथ ही 60 घंटे अतिरिक्त उड़ान की भी गारंटी है

7). आपको बता दें कि इसकी सबसे खास बात ये है कि राफेल 75 फीसदी हमेशा ऑपरेशन के लिए तैयार हैं, जैसे परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है

8). राफेल फाइटर जेट को माली अफगानिस्तान, इराक और लीबिया में इस्तेमाल किया जा चुका है

9). राफेल फाइटर जेट में भारतीय वायुसेना के हिसाब से फेरबदल किए गए हैं यानी इंडियन एयरफोर्स के हिसाब से ये बिल्कुल सटीक है

10). इंडियन एयरफोर्स को साल 2022 तक 36 राफेल मिल जाएंगे, 18 राफेल हाशीमारा बेस पर तैनात होंगे. जिससे चीन पर नजर होगी और 18 राफेल हरियाणा के अंबाला में तैनात होंगे जिससे पाकिस्तान पर नजर होगी

इसे भी पढ़ें: खुशखबरी: 27 जुलाई को फ्रांस से भारत पहुंचेगी 6 राफेल विमानों की खेप

आपने इस 10 खूबियों से समझा कि आखिरकार भारत के लिए राफेल फाइटर जेट क्यों जरूरी है. इस डील को लेकर कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी ने काफी ज्यादा अपनी सियासत चमकाने की कोशिश की. लेकिन, हर बार उन्हें मुंह की खानी पड़ी और भारत को और मजबूत करने के लिए 6 राफेल लड़ाकू विमान 27 जुलाई को आ जाएंगे.

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में आतंकवादी मरे, अलगाववादी डरे! सैयद शाह गिलानी का 'हुर्रियत' से इस्तीफा

इसे भी पढ़ें: चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने फिर दी भारत को धमकी! जानिए, बौखलाहट की वजह