सालों बाद एक मामूली सी घड़ी ने बना दिया लखपति

कहा जाता है न कि देने वाला जब भी देता देता छप्पर फाड़ के और यह कहावत सही साबित हुई है यूरोप के रहने वाले एक नागरिक के लिए. जी हां इनके हाथ ऐसी चीज लगी है कि एक ही बार में मालामाल हो गए. 

सालों बाद एक मामूली सी घड़ी ने बना दिया लखपति

नई दिल्ली: यूरोप के रहने वाले एक जर्मन व्यक्ति ने शायद ही सोचा होगा कि कौड़ियों में खरीदी गई घड़ी के बदले वह रातोंरात लखपति बन जाएगा. जी हां महज कुछ पैसों में खरीदी गई घड़ी के बदले एक जर्मनी व्यक्ति को 20 लाख रुपये मिले. 

कैसे हुए लखपति?

दरअसल यूरोप में फ्ली मार्केट लगती है, यह वह बाजार है जहां पुरानी चीजों को बेचा या खरीदा जा सकता है वह भी काफी कम लागत में. यहीं से एक शख्स ने कुछ पैसे देकर एक घड़ी खरीदी लेकिन उस घड़ी के बदले 50 हजार डॉयचमार्क प्राप्त हुए. डॉयचमार्क जर्मनी की पुरानी मुद्रा है जिसका चलन 2001 के बाद बंद हो गया था. जर्मनी में अब इसका कोई लेन-देन नहीं होता है. लेकिन हम इसे बैंक में जमाकर बदल सकते हैं. 

31 दिसंबर तक बदलवा लें अपना एटीम कार्ड नहीं तो हो सकती है दिक्कतें, लिंक पर क्लिक कर पढ़े खबर.

जर्मनी का यह व्यक्ति लोअर सेक्सॉनी राज्य के आउरिख इलाके का रहने वाला है. इस व्यक्ति को इतनी पुरानी घड़ी के अंदर से यह रकम प्राप्त हुई, रकम मिलते ही व्यक्ति ने यह ले जाकर खोया-पाया विभाग में जमा करवा दिया. लेकिन खोया पाया विभाग किसी भी चीज को छह महीने तक ही अपने पास रखता है. और अगर इस समयावधि में कोई भी इसके लिए क्लेम नहीं करता है तो यह रकम वापस उस व्यक्ति को लौटा दिया जाता है जिसने इसे जमा करवाया हुआ होता है. 

दिल्ली के इस रेस्टोरेंट में कचरे के बदले मिल रहा स्वादिष्ट खाना, लिंक पर क्लिक कर जाने खबर.

जो मुद्रा जर्मनी व्यक्ति को मिली है उसका चलन तो 18 साल पहले ही बंद किया जा चुका है लेकिन मुद्रा को जर्मनी के केंद्रीय बैंक में जमाकर यूरो में बदला जा सकता है. लेकिन इसके लिए एक निश्चित प्रशासनिक फीस देनी पड़ती है. इस व्यक्ति ने भी 576 यूरो देकर 20 लाख रुपये हासिल किए. क्योंकि 1 यूरो 1.95583 मार्क के बराबर होता है.