मुंबई में शिवसेना की गुंडागर्दी, मुख्यमंत्री की आलोचना पर मूंड़ दिया सिर

मुंबई में सरकार बनाने के बाद भी शिवसेना की हरकतों में किसी तरह का सुधार नहीं आया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के कार्यकर्ताओं ने एक व्यक्ति का सिर जबरदस्ती मूंड़ कर उसे गंजा कर दिया. उस व्यक्ति का अपराध महज इतना था कि उसने फेसबुक पर उद्धव के खिलाफ टिप्पणी की थी. 

मुंबई में शिवसेना की गुंडागर्दी, मुख्यमंत्री की आलोचना पर मूंड़ दिया सिर
उद्धव के खिलाफ पोस्ट लिखने पर सिर मूंड़कर गंजा किया

मुंबई: वडाला टीटी के शांतिनगर में रहने वाले एक शख्स हीरामणि तिवारी को फेसबुक पर पोस्ट लिखना महंगा पड़ गया. उनके साथ न केवल मारपीट की गई बल्कि स्थानीय शिवसेना नेताओं ने जबरदस्ती हीरामणि का सिर भी मूंड़ डाला. 

ये है मामला
हीरामणि तिवारी ने बताया कि 15 दिसंबर में दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों की गुंडागर्दी का मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विरोध किया था. जिसके खिलाफ उन्होंने उद्धव ठाकरे के खिलाफ फेसबुक पर टिप्पणी की थी. लेकिन इससे शिवसेना के स्थानीय नेता नाराज होकर गुंडागर्दी पर उतर आए.

नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय में प्रदर्शन हुआ था. इसके बाद उद्धव ठाकरे ने इस प्रदर्शन को संभालने के लिए की गई पुलिस कार्रवाई को जलियांवाला बाग कांड से जोड़ा था.

उन्होंने सोमवार की दोपहर हीरामणि को घर से बुलाकर उसके साथ मारपीट और गाली गलौच किया. इतने पर उनका मन नहीं भरा तो हीरामणि की बेइज्जती करने के लिए उन्होंने उनका सिर भी मुंडवा दिया. आरोपियों में शिवसेना का स्थानीय प्रमुख और उसके दो-तीन साथी हैं. 

 

पुलिस ने दिया दखल
इस मामले में मुंबई पुलिस ने दखल दिया है और जांच करके कार्रवाई करने में जुट गई है. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी प्रणय अशोक ने बताया कि वडाला टीटी पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. 

तिवारी की शिकायत पर पुलिस आरोपियों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई कर रही, पुलिस ने आरोपी पक्ष को कानून व्यवस्था हाथ में नहीं लेने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है.  साथ ही, तिवारी को भी नोटिस जारी कर किसी तरह की हिंसात्मक गतिविधि नहीं करने की चेतावनी दी गई है. 

तिवारी ने बताया कि धमकियां मिलने के बाद उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट डिलीट कर दी थी. उसके बाद भी शिवसेना के गुंडे उसके घर पहुंचे और उसको पीटने के बाद सिर मूंड दिया. हीरामणि तिवारी ने कहा कि पुलिस ने मुझे समझौता करने के लिए कहा. मैं सख्त कार्रवाई की मांग करता हूं.