नेपाल के बैंक लूटने की साजिश में थे चीनी हैकर, 122 संदिग्ध गिरफ्तार

चीन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि नेपाल की ओर की गई इस कार्रवाई में चीनी के सुरक्षा अधिकारियों ने भी सहयोग किया है. काठमांडू के बाहरी इलाके में विभिन्न मकानों में सोमवार को की गई छापेमारी में 500 से अधिक लैपटॉप जब्त किये गये थे. काठमांडू के पुलिस प्रमुख उत्तम सुबेदी ने बताया कि शक है कि आरोपियों ने आर्थिक अपराध किए और बैंक की नकदी मशीनों में हैकिंग की होगी. 

नेपाल के बैंक लूटने की साजिश में थे चीनी हैकर, 122 संदिग्ध गिरफ्तार

नई दिल्लीः नेपाल ने चीन के 122 नागरिकों को हिरासत में लिया है. साइबर क्राइम और बैंक धोखाधड़ी के आरोप में हिरासत में लिया है. आरोप है कि ये 122 चीनी नागरिक टूरिस्ट वीजा पर नेपाल आए थे और यहां से साइबर क्राइम और बैंक धोखाधड़ी जैसे अपराध को अंजाम दे रहे थे. चीन के नागरिकों पर बैंक की कैश मशीनों को हैक करने का आरोप है. खास बात यह है कि चीन ने भी अपने नागरिकों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

500 से अधिक लैपटॉप जब्त
चीन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि नेपाल की ओर की गई इस कार्रवाई में चीनी के सुरक्षा अधिकारियों ने भी सहयोग किया है. काठमांडू के बाहरी इलाके में विभिन्न मकानों में सोमवार को की गई छापेमारी में 500 से अधिक लैपटॉप जब्त किये गये थे. काठमांडू के पुलिस प्रमुख उत्तम सुबेदी ने बताया कि शक है कि आरोपियों ने आर्थिक अपराध किए और बैंक की नकदी मशीनों में हैकिंग की होगी.

उन्होंने कहा, 'यह पहली बार है जब इतने विदेशियों को संदिग्ध आपराधिक गतिविधियों के सिलसिले में हिरासत में लिया गया है.

मामले की जांच जारी
इन गिरफ्तारियों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने मीडियाकर्मियों को बताया, 'मुझे जो पता चला है, उसके अनुसार, इन चीनी नागरिकों पर सीमा पार साइबर धोखाधड़ी में शामिल होने का संदेह है और इस मामले की जांच चल रही है.' शुआंग ने कहा कि ये गिरफ्तारियां चीनी और नेपाली अधिकारियों के एक संयुक्त अभियान में की गई है. उन्होंने कहा, 'चीन सीमा पार अपराधों से लड़ने और दोनों देशों के लोगों के बीच मैत्रीपूर्ण आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के लिए नेपाल के साथ सहयोग बढ़ाता रहेगा.

सर्दी से और ठिठुरेगा भारत, बारिश बढ़ाएगी सिहरन

भारतीय बैंकों भी पहले ही जारी कर चुके हैं चेतावनी
कुछ दिन पहले भारतीय स्टेट बैंक (SBI ) ने लोगों को एक ट्वीट में सावधान किया था. बैंक ने कहा कि किसी भी पब्लिक प्लेस के चार्जिंग स्टेशन में फोन चार्ज से करने से पहले दो बार सोचें. ऐसा भी हो सकता है कि आपके फोन का डेटा चंद ही मिनटों में है​क किया जा सकता है. एसबीआई में ट्वीट में लिखा,

कहीं भी चार्जिंग स्टेशन में अपना फोन चार्ज में लगाने से पहले दो बार सोचें. ऐसा भी हो सकता है मालवेयर की वजह से आपके फोन डेटा का खतरा बढ़ सकता है. आप हैकर्स को अपने पासवर्ड और डेटा एक्सपोर्ट करने को मौका दे सकते हैं. वहीं, केंद्र सरकार की तरफ से भी हैकिंग से सुरक्षित रहने के लिए चेतावनी जारी की गई थी.

दम दिखा रहा हिन्दुस्तान, बिलबिला रहा पाकिस्तान!