एलएसी पर भारतीय वायुसेना का मिड-नाइट ऑपरेशन

भारतीय सीमा पर चीन की एक भी गलती नहीं होगी बर्दाश्त. जहां भारतीय थलसेना बहुत कठोर है वहीं भारतीय वायुसेना बहुत सख्त है और इस समय लगी है सीमा पर  मिड-नाइट ऑपरेशन में जो सीधा संदेश है शत्रु चीन के लिये..    

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 7, 2020, 07:39 PM IST
    • चल रहा है मिड-नाइट ऑपरेशन
    • फारवर्ड बेस पर हुआ ऑपरेशन
    • पड़ौसियों के लिये है संदेश
एलएसी पर भारतीय वायुसेना का मिड-नाइट ऑपरेशन

नई दिल्ली. अब ड्रैगन ललकार भी नहीं सकता और फुफकार भी नहीं सकता. सीमा पर उसने अब एक भी हिमाकत की तो वह उसे बहुत भारी पड़ने वाली है. सेना को जहां प्रधानमन्त्री ने अपनी कार्रवाई के लिये पूरी आजादी दी है वहीं सेना भी किसी दया-धरम या नीति-नरम के चक्कर में नहीं पड़ने वाली है कंकड़ का जवाब भी गोले से देने के लिये पूरी तरह मुस्तैद है. 

 

चल रहा है मिड-नाइट ऑपरेशन

लद्दाख स्थित वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारतीय वायुसेना आधी रात को या किसी भी वक्त किसी भी मौसम में अचानक किसी भी सैन्य अभियान को अंजाम देने के लिये भारत की वायुसेना बिलकुल तैयार है.इसी सिलसिले में सीमा पर वायुसेना ने अपने मिड-नाइट मिशन ऑपरेशन की एक्सरसाइज़ भी की है जिसमें फ्रंट-लाइन फाइटर जेट्स, अटैक हेलीकॉप्टर और मल्टी-मिशन हेलीकॉप्टरों ने भाग लिया.

फारवर्ड बेस पर हुआ ऑपरेशन

फाइटर जेट्स, अटैक चॉपर्स और मिशन हेलीकाप्टर्स के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास फारवर्ड बेस पर भारत की वायुसेना ने अपने मिड नाइट ऑपरेशन्स की एक्सरसाइज़  को अन्जाम दिया है. जबकि वहीं दूसरी तरफ एलएसी पर लंबे समय से जारी भारत-चीन सैन्य तनाव में कमी आई है और अब चीनी सेना ने अपनी जगह से पीछे हटने की शुरुआत कर दी है.

 

पड़ौसियों के लिये है संदेश

पूर्व वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल फली एच. मेजर ने इस मिशन को लेकर बताया कि 'भारतीय वायुसेना ने इस मिड-नाइट ऑपरेशन के माध्यम से पड़ौसियों के संदेश दिया है कि हम किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिये तैयार हैं चाहे वो कोई भी मौसम हो या कोई भी वक्त. 

ये भी पढ़ें. क्या चीन में आने वाली है 'काली मौत'?

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़