भारत की मदद की पेशकश में चीन ने घुसाई राजनीति

चीन दुनिया का घोषित खलनायक देश है. हर पड़ौसी देश से दुश्मनी पाले बैठे इस देश की निगाहें इतनी टेढ़ी हैं कि अपने देश के लोगों पर भी पड़ जाती हैं तो उनका नुकसान किसी भी सीमा तक कर सकती हैं. अब कोरोना से पिट रहे चीन को जब भारत ने मदद का प्रस्ताव भेजा तो उसमें भी चीन ने चली है 'चाल',   

भारत की मदद की पेशकश में चीन ने घुसाई राजनीति

नई दिल्ली.  कोरोना वायरस के संक्रमण ने चीन में अब तक छह स्वास्थ्यकर्मियों की जान ले ली है और पौने दो हज़ार स्वास्थ्यकर्मी इससे संक्रमित चल रहे हैं. ऐसी हालत में भी चीन ने भारत की ओर से बढ़े मदद के हाथ को लेकर भी राजनीति की बददिमागी दिखाई है. भारत ने मदद तो शुरू कर ही दी है लेकिन चीन ने अपनी जारी की हुई 33 देशों की सूची में भारत का नाम नहीं रखा जिस सूची में चीन को  मेडिकल सप्लाई व अन्य मदद पहुंचाने वाले देशों का नाम है. 

 

चीन की 33 मददगार देशों की सूची 

चीन ने उन 33 मददगार देशों की सूची जारी की है जिन्होंने कोरोना से परेशान चीन को मेडिकल सप्लाई और और दूसरी मदद चीन को पहुंचाई हैं. भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में चीन को हरसंभव मदद देने का हाथ बढ़ाया था और भारत के इस कदम का चीन ने स्वागत भी किया था. लेकिन कल वैलेंटाइन डे के दिन चीन ने 33 देशों की जो सूची जारी की उसमें बीजिंग को मेडिकल सप्लाई व अन्य मदद पहुंचाने वाले देशों की सूची में भारत का नाम गायब था.

मददगार देशों को कहा धन्यवाद 

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता गेंग शुहांग ने ऑनलाइन मीडिया कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दुनिया के मददगार देशों को शुक्रिया कहा. मंत्रालय ने बयान जारी किया कि चीन अंतरराष्ट्रीय समुदाय का शुक्रिया अदा करता है, खासतौर से समर्थन देने वाले विकासशील देशों का. लेकिन बेशर्मी देखिये कि चीन अपने इस बयान में ये कहना नहीं भूला कि हम धन्यवाद दे रहे हैं लेकिन महामारी से निपटने के लिए हमें अपनी शक्ति पर भरोसा है. हमें विश्वास है कि हम इससे निपट सकते हैं. 

 

डेढ़ हज़ार से अधिक स्वास्थ्यकर्मी हुए संक्रमित

चीन में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के अनुसार अब तक चीन के 1716 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. मंत्रालय की जानकारी में बताया गया कि इसमें से वुहान में 1102 चिकित्साकर्मी सीओवीआईडी-19 से संक्रमित हैं और दूसरी तरफ 400 दूसरे चिकित्साकर्मी हुबेई प्रांत में संक्रमण के शिकार हुए हैं. 

ये भी पढ़ें. विश्वस्तरीय सुविधाएं मिलने वाली हैं रेल यात्रियों को