• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 1,01,497 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 2,07615: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 1,00,303 जबकि अबतक 5,815 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 57+ लाख यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुँचाया गया
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री ने #AatmaNirbharBharat के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 3 योजनाओं की शुरुआत की
  • #AatmaNirbharBharat के लिए #MakeInIndia को प्रोत्साहित करने के लिए DPIIT ने पब्लिक प्रोक्योरमेंट ऑर्डर, 2017 में संशोधन किया
  • एंटी-कोविड ​​ड्रग मॉलेक्यूल के फास्ट-ट्रैक विकास के लिए SERDB-DST ने IIT (BHU) वाराणसी में अनुसंधान के लिए सहयोग को मंजूरी दी
  • ट्राइफेड कोविड ​​-19 के कारण संकट में पड़े आदिवासी कारीगरों को हरसंभव सहायता प्रदान करेगी
  • पीएसए और डीएसटी ने संयुक्त रूप से राष्ट्रीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार नीति 2020 के निर्माण की प्रक्रिया की शुरुआत की
  • कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने विभिन्न बागवानी फसलों के लिए 2019-20 का दूसरा अग्रिम अनुमान जारी किए हैं
  • कोविड के लक्षण विकसित होने पर, घबराएं नहीं, तुरंत 1075 पर कॉल करें #IndiaFightsCorona #BreakTheStigma

जमाल खशोगी के बेटे ने माफ़ किया पिता के हत्यारों को

ऊपरी तौर पर ये तो बहुत बड़ी बात है लेकिन इसके पीछे के कारण बहुत से हो सकते हैं क्योंकि इस्लामिक राष्ट्र में तो माफ़ी नाम की कोई चीज़ नहीं होती और किसी ह्त्या के हत्यारों को माफ़ कर दिया जाए, ऐसा तो वहां हो ही नहीं सकता..  

जमाल खशोगी के बेटे ने माफ़ किया पिता के हत्यारों को

नई दिल्ली.  जमाल खशोगी की दर्दनाक मौत हुई थी जो उनकी ह्त्या के दौरान हुई थी. इसलिए अगर इस दर्दनाक तरीके से पिता की हत्या करने वालों को जमाल खशोगी का बेटा माफ़ कर देता है तो यह इंसानियत की बहुत बड़ी मिसाल नज़र आती है. लेकिन सच तो ये है कि ये इंसानियत नहीं मजबूरी की बहुत बड़ी मिसाल है और जाहिर करती है कि जमाल खशोगी के बेटे के लिए मजबूरियां कितना आसमानी हो गई हैं.

 

जमाल के परिवार का ऐलान 

सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी हत्या जिसने कराई उसे तो गिरफ्तार नहीं किया जा सका लेकिन बीच के लोगों को गिरफ्तार करने में कामयाबी जरूर मिली है. इस हत्या के दोषी मान कर इन पांच एजेंटों को फांसी दी जा सकती है. हालांकि जमाल खशोगी के परिवार ने ऐलान किया है कि उन्होंने हत्यारों को माफ कर दिया है.

फांसी पर संशय अभी भी है 

जमाल खशोगी के परिवार ने इस बेरहम ह्त्या के अपराधियों को माफ़ करने का न केवल ऐलान कर दिया है बल्कि कानूनी कागजात पर भी हत्यारों को दी गई अपनी माफ़ी दर्ज करा दी है. लेकिन हालत अभी भी ये है कि इन अपराधियों को फांसी दी जायेगी या नहीं, इस पर अभी निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता. 

बेटे सलाहा खशोगी ने की माफ़ी की घोषणा 

दरअसल सऊदी प्रिंस सलमान के बहुत बड़े आलोचक थे पत्रकार जमाल खशोगी. और उनको भी पता था कि कभी भी उनकी हत्या की जा सकती है. और फिर हुआ भी यही 2 अक्टूबर 2018 को इस्तांबुल में सऊदी के दूतावास में जमाल खशोगी की हत्या कर दी गई थी. लेकिन इस बेरहम हत्या के विपरीत दूसरी तरफ जमाल खशोगी के परिवार हाल ही में इन पांचों हत्यारों को माफ कर दिया है जिनको फांसी की सजा सुना दी गई थी. 

ये भी पढ़ें. चीन ने रक्षा बजट बढ़ कर भारत से तिगुना किया