पाकिस्तान की अमेरिका से गुहार: भारत की नाराज़गी कम करा दो!

 चीन के फेंके हुए टुकड़ों पर उसके मुरीद हो गए पाकिस्तान को अब हकीकत समझ आने लगी है कि भारत से पंगा लेना उसे भारी पड़ सकता है और भारत के खिलाफ उसे किसी की मदद नही मिलने वाली है. इसलिए पाकिस्तान अब अमेरिका के दरवाजे पर गिड़गिड़ा रहा है.  

पाकिस्तान की अमेरिका से गुहार: भारत की नाराज़गी कम करा दो!

नई दिल्ली.  पाकिस्तान ने अमेरिका से अपील की है कि कृपा करके भारत के साथ तनाव कम करा दिया जाए. क्योंकि उसके अस्तित्व के लिए भारत की सेना की घेराबंदी खतरनाक साबित हो सकती है. ये असर आज के भारत का है. ये मोदी का भारत है, नेहरू और कांग्रेस का नहीं. 

 

डेविड हेले से की वर्चुअल बातचीत 

पाकिस्तान ने ये समझदारी का कदम उठाया है और इसकी जानकारी चीन को मिली होगी तो उसे समझ आ गया होगा कि भारत से मुकाबले के लिए पाकिस्तान उस पर भरोसा नहीं करता. इसीलिए तो  पाकिस्तान के विदेश सचिव शोहेल महमूद ने भारत संग टेंशन कम कराने के लिए मेरिका से अपील की है. सोहेल ने राजनीतिक मामलों के अवर सचिव डेविड हेले से वर्चुअल बातचीत के दौरान कश्मीर मुद्दे को भी उठा दिया और उसके समाधान कराने की बात भी कही.

भारत ने कर दिया है स्पष्ट 

भारत के नज़रिये से ये कोशिश पाकिस्तान के डर के मुज़ाहिरे के सिवा कुछ भी नहीं क्योंकि भारत को इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. भारत ने पहले स्पष्ट कर दिया है कि वह किसी भी द्विपक्षीय मुद्दे पर तीसरे पक्ष की मध्यस्थता को अनावश्यक मानता है. भारत ने पाकिस्तान को ये भी अच्छी तरह से समझा दिया है कि अब उससे तभी बात होगी जब पकिस्तान आतंकवाद को अपना समर्थन और संरक्षण बंद कर देगा. 

डॉन ने छपी है खबर 

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन ने इस समाचर को प्रमुखता देते हुए प्रकाशित किया है जिसकी रिपोर्ट के अनुसार सोहेल महमूद ने अमेरिका से कहा है कि भारत के साथ पाकिस्तान का तनाव बढ़ने से रोकने के लिए और साथ ही जम्मू-कश्मीर विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के लिए किसी न किसी तरह की पहलकदमी करनी ज़रूरी है. 

ये भी पढ़ें. लेबनान धमाकों ने गिरा दी सरकार