नहीं नजर आया ईद का चांद, 14 मई को मनाई जाएगी ईद उल फितर

ऐसे में अब 14 मई को मनाई जाएगी और 13 मई को रमजान का 30वां रोजा रखा जाएगा. 

नहीं नजर आया ईद का चांद, 14 मई को मनाई जाएगी ईद उल फितर
फाइल फोटो

लखनऊ: रमजान के आज 29 रोजे मुकम्मल हो गए हैं. ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि आज माहे शव्वाल यानी ईद का चांद का नज़र आ सकता है लेकिन उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत कई जगहों पर चांद का दीदार नहीं हुआ. ऐसे में अब 14 मई को मनाई जाएगी और 13 मई को रमजान का 30वां रोजा रखा जाएगा. 

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच ईद को लेकर खास एडवाइजरी जारी की गई है. ईद को लेकर इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया फरंगी महल लखनऊ ने एडवाइजरी जारी की है. मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि घर में ही ईद मनाएं। कोरोना को देखते हुए ईद बेहद सादगी से मनाए.

यह भी पढ़ें: फिलिस्तीन को लेकर बोले अरशद मदनी- अभी भी नहीं जागे, तो कल तक बहुत देर हो जाएगी

मौलाना खालिद राशिद ने बताया कि ईद मनाते समय कोरोना वायरस को लेकर जारी किए गए तमाम प्रोटोकॉल का पूरा पालन करें. घरों में रहकर ही ईद मनाएं. घर से बाहर न जाएं. उन्होंने यह भी कहा कि किसी से हाथ न मिलाएं और ना ही गले मिलें. 

यह भी पढ़ें: दारुल उलूम देवबंद ने जारी किया फतवा, कहा- ऐसे हालात में माफ है ईद की नमाज़

मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा कि लोग मोबाइल फोन और सोशल मीडिया के जरिए एक-दूसरे को मुबारकबाद दें. इसको लेकर बाकायदा इलाके में ऐलान भी किया गया है.  इसके ज़रिये लोगों को इसबार किस तरह से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए ईद मनना है इसकी अपील की गई.

ZEE SALAAM LIVE TV