close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लता मंगेशकर को 90वीं वर्षगांठ पर मिला बेहतरीन तोहफा, बहन ने लिखी उन पर 'दीदी और मैं' किताब

पिछले 70 दशकों से सूर साम्राज्ञी भारत रत्न लता मंगेशकर ने रविवार को "दीदी और मैं "नामक किताब को रिलीज किया 

लता मंगेशकर को 90वीं वर्षगांठ पर मिला बेहतरीन तोहफा, बहन ने लिखी उन पर 'दीदी और मैं' किताब

मुंबई: पिछले 70 दशकों से सूर साम्राज्ञी भारत रत्न लता मंगेशकर ने रविवार को "दीदी और मैं "नामक किताब को रिलीज किया और कहा कि इस किताब के साथ बचपन की वह स्मृतियां आंखों के सामने आ गई है जो कि वक्त के साथ धुंधली हो गई थी. रविवार की शाम को घर परिवार के सदस्यों के बीच लता मंगेशकर जी ने इस किताब को लांच किया. आपको बता दें कि यह पुस्तक उनकी बहन मीना मंगेशकर खादिलकर द्वारा लिखी गई है. लता मंगेशकर ने किताब का हिंदी संस्करण रिलीज किया.लता मंगेशकर के जन्म दिवस के मौके पर घर परिवार के सदस्य उनके घर प्रभु कुंज पर इकट्ठे होकर उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी थी.

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) के जन्मदिन (Birtday) के खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने उन्हें शुभेक्षा देते हुए संदेश भेजा था जिसे मराठी कलाकार सुमित राघवन ने प्रस्तुत किया. अपने संदेश में भारत रत्न लता मंगेशकर द्वारा संगीत क्षेत्र में किए गए अप्रतिम कार्य की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें दीर्घायु होने की कामना दी. संगीत जिनके समक्ष नतमस्तक होता है ऐसी लता मंगेशकर को ढेर सारी शुभकामनाएं दी. पीएम मोदी का यह संदेश मराठी कलाकार सुमित राघवन ने पढ़ा था.

आपको बता दें 28 सितंबर को लता दीदी 90 वर्ष की हो गई है.किताब का जिक्र करते हुए मीना मंगेशकर जी का कहना है कि किताब "दीदी और मैं "उनकी 90 वीं वर्षगांठ का तोहफा है. इस किताब में बचपन की खूबसूरत, साथ ही खट्टी मीठी यादों का समावेश किया गया है. किताब लिखने में उषा मंगेशकर ने भी मेरी काफी मदद की है.

आपको बताते हैं कि कि इस किताब की प्रस्तावना महानायक अमिताभ बच्चन ने लिखी है. यह किताब बुधवार से ऑनलाइन अवेलेबल हो जाएगी. इस किताब में लता मंगेशकर जी और उनके परिवार के कुछ अनसीन फोटोग्राफ्स भी होंगे.