दुनिया के इस अरबपति ने खरीदा अमेरिका में सबसे महंगा मकान, कीमत 1700 करोड़

New York: केन ग्रिफिन ने हाल ही में बकिंघम पैलेस के पास 870 करोड़ रुपए का मकान खरीदा था.

दुनिया के इस अरबपति ने खरीदा अमेरिका में सबसे महंगा मकान, कीमत 1700 करोड़
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: दुनिया में लोगों को अलग-अलग तरह के शौक हैं, लेकिन अमेरिका के एक निवेशक हैं केन ग्रिफिन जिन्हें दुनियाभर में 'सबसे महंगी' प्रॉपर्टी खरीदने का शौक है. अपने इसी शौक की वजह से ग्रिफिन ने अमेरिका में सबसे महंगा घर खरीदा है, जिसकी कीमत है करीब 1700 करोड़ रुपए. इससे ठीक कुछ दिन पहले ही ग्रिफिन ने लंदन में बकिंघम पैलेस के पास 870 करोड़ रुपए का मकान भी खरीदा था. फिलहाल जो पेंटाहाउस ग्रिफिन ने खरीदा है वो 1000 फीट ऊंचा और 24000 स्क्वॉयर फीट चौड़ा है. ग्रिफिन के प्रवक्ता के मुताबिक, इस मकान में ग्रिफिन न्यूयॉर्क में रहने के दौरान रहेंगे. 
 
महंगी प्रॉपर्टी खरीदने का शौक
पिछले कुछ सालों में ग्रिफिन ने एक से बढ़कर एक महंगी प्रॉपर्टी खरीदी है. इसमें शिकागो की वाल्डोर्फ एस्टोरिया होटल के दो मंजिल 2 अरब 13 करोड़ रुपए ($ 30 मिलियन), 4 अरब 26 करोड़ रुपए ($ 60 मिलियन) में एक मियामी बीच पेंटहाउस, शिकागो का सबसे महंगा घर और चार-स्तरीय पेंटाहाउस 4 अरब 17 करोड़ (58.75 मिलियन डॉलर ) शामिल हैं. इसके अलावा ग्रिफिन ने पाम बीच, फ्लोरिडा में लगभग 16 अबर 35 करोड़ रुपए (230 मिलियन डॉलर) की संपत्ति खरीदी है. यहां 2009 में ग्रिफिन ने 820 वें एवेन्यू में एक अपार्टमेंट के लिए 2 अरब 84 करोड़ ($ 40 मिलियन) का भुगतान किया था.

दुनिया के बड़े अमीरों में शामिल हैं ग्रिफिन
50 साल केन ग्रिफिन ने यूनिवर्सिटी में पढ़ने के दौरान ही कन्वर्टिबल बांड्स का व्यापार शुरू किया था. फ्लोरिडा के रहने वाले केन ने साल 1990 में सिटाडेल की स्थापना की और इस दुनियाभर में प्रसिद्धि दिलाई. ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक, ग्रिफिन दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों की रैंकिंग में शामिल हैं और ग्रिफिन की कुल संपत्ति करीब 68 अरब 30 करोड़ रुपए है. 

'दानवीर' भी हैं ग्रिफिन
2003 में ग्रिफिन रॉबिन हुड फाउंडेशन से जुड़े और 2006 में बिल एंड मेलिंडा गेट्स ऑफ फाउंडेशन से जुड़कर शिकागो में बच्चों के लिए स्कूल खोला. ग्रिफिन ने 2007 में आर्ट इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो को 1 अरब 35 करोड़ रुपए की राशि डोनेट की थी. ग्रिफिन ने पत्नी कैथरीन के साथ एक चैरिटी संस्था केनिथ एंड एनि फाउंडेशन की शुरुआत की और बच्चों को बुनियादी शिक्षा दिलाने के लिए काम करते हैं.