close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बोइंग ने कहा, 737 मैक्स विमान का सॉफ्टवेयर अपडेट, जल्द होगी टेस्टिंग

विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी बोइंग ने 737 मैक्स (737 Max) के सॉफ्टवेयर से जुड़ी खामी को दूर करने का काम पूरा कर लिया है और अब वह इसकी प्रमाणिकता के लिए अंतिम उड़ान की तैयारी कर रही है.

बोइंग ने कहा, 737 मैक्स विमान का सॉफ्टवेयर अपडेट, जल्द होगी टेस्टिंग

न्यूयॉर्क : विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी बोइंग ने 737 मैक्स (737 Max) के सॉफ्टवेयर से जुड़ी खामी को दूर करने का काम पूरा कर लिया है और अब वह इसकी प्रमाणिकता के लिए अंतिम उड़ान की तैयारी कर रही है. कंपनी ने गुरुवार को इस बारे में जानकारी दी. बोइंग ने लायन एयर और इथियोपियन एयरलाइंस हादसों के बाद 737 मैक्स विमानों में सॉफ्टवेयर अद्यतन (अपडेट) करने की घोषणा की थी. विमान हादसों के बाद दुनियाभर के देशों ने विमानों को परिचालन से बाहर कर दिया था.

सभी इंजीनियरिंग परीक्षण उड़ाने पूरी कर ली
विमानों का परिचालन फिर शुरू करने से पहले बोइंग को प्रस्तावित सुधार पर अमेरिकी और अंतरराष्ट्रीय नियामकों की मंजूरी की जरूरत होगी. उड़ान प्रबंधन प्रणाली की इसी खामी को दोनों हादसों का कारण माना जा रहा है. बोइंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेनिस मुईलेनबर्ग ने बयान में कहा, 'सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. हमने सॉफ्टवेयर अपडेट को लेकर सारी इंजीनियरिंग परीक्षण उड़ानें पूरी कर ली हैं और अब इसकी प्रमाणिकता के लिए अंतिम उड़ान की तैयारी कर रहे हैं.'

बोइंग ने कहा कि उसने 737 मैक्स विमान में मैनोवरिंग कैरेक्टरस्टिक ऑगमेन्टेशन सिस्टम (एमसीएएस) से जुड़ी खामी को दूर करने के बाद 360 घंटों से ज्यादा उड़ान भरकर परीक्षण किया. इसके लिए 207 उड़ानें संचालित की गईं. कंपनी ने कहा कि बोइंग उड़ान के प्रमाणिक परीक्षण के लिए संघीय विमानन नियामक को अतिरिक्त जानकारी दे रही है. नियामकीय मंजूरी के लिए यह एक अहम कदम है.