close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Budget 2019 : आज आएगा आर्थिक सर्वे, जानिए बजट से क्या है संबंध

Budget 2019, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहली बार गुरुवार को आर्थिक सर्वे पेश किया जाएगा. वित्त मंत्री संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश करेंगी. इसके बाद शुक्रवार को वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट 2019 (Budge 2019) पेश करेेंगी.

Budget 2019 : आज आएगा आर्थिक सर्वे, जानिए बजट से क्या है संबंध

नई दिल्ली : Budget 2019, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहली बार गुरुवार को आर्थिक सर्वे पेश किया जाएगा. वित्त मंत्री संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश करेंगी. इसके बाद शुक्रवार को वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट 2019 (Budget 2019) पेश करेंगी. हर बार की तरह इस बार भी आर्थिक सर्वे आम बजट से एक दिन पहले जारी किया जा रहा है. इस सर्वे में देश के विकास का सालाना लेखा जोखा होता है. पिछले एक साल में देश की अर्थव्यवस्था और सरकार की योजनाओं में क्या प्रगति हुई इस बारे में इस सर्वे में जानकारी दी जाती है.

वित्त मंत्रालय का अहम दस्तावेज होता है आर्थिक सर्वे
आर्थिक सर्वे के जरिये ही देश की आर्थिक सेहत की तस्वीर साफ होती है. यह वित्त मंत्रालय का काफी अहम दस्तावेज होता है. यह सर्वे भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे प्रमाणिक दस्तावेज माना जाता है. इसे वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार तैयार करते हैं. यह अर्थव्यवस्था के सभी पहलुओं को समेटते हुए विस्तृत सांख्यिकी आंकड़ों के आधार पर तैयार होता है. इसमें सरकार की नीतियों की जानकारी होती है.

दो हिस्सों में पेश किया जाता है आर्थिक सर्वे
साल 2015 के बाद आर्थिक सर्वे को दो हिस्सों में बांटा गया. पहले हिस्से में अर्थव्यवस्था की स्थिति के बारे में जानकारी दी जाती है. इसे आम बजट से पहले जारी किया जाता है. दूसरे हिस्से में प्रमुख आंकड़े और डाटा दिया जाता है, इसे जुलाई या अगस्त में पेश किया जाता है. यह दो हिस्सों में जारी होना तब से शुरू हुआ जब फरवरी 2017 में आम बजट को फरवरी के अंतिम सप्ताह की बजाय पहले सप्ताह में पेश किया जाने लगा.

इस साल 1 फरवरी को तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट पेश किया था. उस समय उन्होंने आर्थिक सर्वेक्षण पेश नहीं किया था. इसका अहम कारण यह था कि देश में  आम चुनाव होने वाले थे. नियमानुसार जिस साल लोकसभा चुनाव होते हैं, उस साल अंतरिम बजट पेश किया जाता है. चुनाव होने पर नई सरकार पूर्ण बजट पेश करती है.