बजट 2020: तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों ने कर डाली रेल मंत्री पीयूष गोयल से ये नई मांग

मोदी सरकार अपना दूसरा बजट एक फरवरी को पेश करने जा रही है. जाहिर है ऐसे में सभी सेक्टर्स, करोड़ों देशवासियों को सरकार से बड़े ऐलान की उम्मीद है.

बजट 2020: तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों ने कर डाली रेल मंत्री पीयूष गोयल से ये नई मांग
भारतीय रेलवे के मुसाफिर भी बजट से काफी उम्मीदें लगाए हुए हैं.

नई दिल्ली: मोदी सरकार अपना दूसरा बजट एक फरवरी को पेश करने जा रही है. जाहिर है ऐसे में सभी सेक्टर्स, करोड़ों देशवासियों को सरकार से बड़े ऐलान की उम्मीद है. भारतीय रेलवे के मुसाफिर भी बजट से काफी उम्मीदें लगाए हुए हैं. रेल मुसाफिरों को भरोसा है कि आने वाला बजट रेल सुधार की दिशा में कई नई और बेहतर सौगात लेकर आएगा. आखिर अगले रेल बजट से क्या है? रेल यात्रियों की उम्मीदें और भारतीय रेलवे में किस बड़े बदलाव की बाट जोह रहे हैं? हमारे रिपोर्टर समीर दीक्षित ने नई दिल्ली से कानपुर तक तेजस एक्सप्रेस में यात्रा करके रेल यात्रियों से फीडबैक लिया.  

कोहरे की मार के चलते नई दिल्ली से तखनऊ तेजस एक्सप्रेस 2 घंटा 10 मिनट की देरी से नई दिल्ली से चली. इस देरी के चलते मुसाफिरों को हुई परेशानी का दर्द उनकी मांग में भी साफ झलका. तेजस एक्सप्रेस का किराया उस रूट की अन्य ट्रेनों के मुकाबले ज्यादा है. ऐसे में ज्यादा किराया देने के बावजूद ट्रेन लेट और उससे जुड़ी बाकी दिक्कतों का सामना करने पर यात्रियों का गुस्सा और दर्द बातचीत में झलका. 

रेल मुसाफिर की सबसे बडी मांग की ट्रेन सही समय पर चले. खान-पान में सुधार लेकिन दिल और जुबां को पसंद आए. इसके लिए अब भी और सुधार की जरूरत है. युवाओं की मांग है कि ऑन बोर्ड एंटरटेनमेंट के वादे को अब हकीकत बनाया जाए. सुरक्षा के पैमाने पर सीसीटीवी कैमरों का जाल रेलवे स्टेशन और ट्रेन में बिछाया जाए. स्टेशनों पर सफाई से यात्री संतुष्ट नजर आए. सफाई व्यवस्था में और सुधार पर बल दिया. यात्रियों का कहना था कि सरकार किराया भले ही बढ़ा लें पर सुविधाओं में कंजूसी न करे. तेजस जैसी ट्रनों की संख्या और बढ़ाई जाए.