आप भी बेच रहे हैं अपनी Car? पहले जान लीजिए FASTag का क्या करें वरना होगा बड़ा नुकसान
X

आप भी बेच रहे हैं अपनी Car? पहले जान लीजिए FASTag का क्या करें वरना होगा बड़ा नुकसान

FASTag: अगर आप भी अपनी कार बेच रहे हैं या हाल ही में अपनी कार को बेचा है तो जान लीजिए कि उस पर लगे फास्टैग (FASTag) का क्या होगा? 

आप भी बेच रहे हैं अपनी Car? पहले जान लीजिए FASTag का क्या करें वरना होगा बड़ा नुकसान

नई दिल्ली: क्या आप अपनी कार बेचने वाले हैं या हाल ही में अपनी कार को बेचा है? ऐसे में, आप सोच रहे होंगे कि उस पर लगे फास्टैग (FASTag) का क्या होगा. आपका जानना बेहद जरूरी है कि आपको सबसे पहले टैग जारी करने वाले बैंक को इसके बारे में सूचित करना है और अकाउंट को बंद कराना है. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने अपनी वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी है.

कार बेचने पर FASTag का क्या करें?

अगर आपने अपने वाहन को बेचा या ट्रांसफर किया है, तो आपको फास्टैग को तुरंत डिएक्टिवेट या बंद करा देना चाहिए. अगर अपने ऐसा नहीं किया तो टोल पेमेंट की कटौती उसी अकाउंट से होती रहेगी. यानी आपके अकाउंट से पैसा कटता रहेगा. दरअसल, टोल पेमेंट उसी सोर्स अकाउंट से कटेगा, जिससे फास्टैग अकाउंट लिंक्ड है.

इतना ही नहीं, जब तक आपका फास्टैग अकाउंट लिंक रहेगा तो आपके कार के नए मालिक को भी कार के लिए नया फास्टैग नहीं मिल पाएगा. क्योंकि एक वाहन से केवल एक एक्टिव फास्टैग को ही लिंक किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में अगले हफ्ते फिर हो सकती है बढ़ोतरी! जानिए सरकार की नई योजना

ऐसे करें फास्टैग अकाउंट को बंद

वैसे तो, अलग-अलग सर्विस प्रोवाइडर्स की फास्टैग लिंक्ड अकाउंट या ई-वॉलेट को बंद या डिएक्टिवेट कराने के लिए अलग प्रक्रिया होती है. लेकिन, सबसे आम तरीकों में से एक है कि आप अपने फास्टैग प्रोवाइडर ते कस्टमर सपोर्ट से संपर्क करें और फास्टैग लिंक्ड अकाउंट को बंद या डिएक्टिवेट कराने के लिए रिक्वेस्ट को सब्मिट करें.

  • फास्टैग अकाउंट बंद करने के लिए आप सबसे पहले कस्टमर केयर सर्विस पर कॉल करें.
  • MoRTH/NHAI/IHMCL ने फास्टैग से संबंधित शिकायतों के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर 1033 लॉन्च किया है.
  • ग्राहक किसी भी फास्टैग संबंधित चिंताओं के लिए सीधे 1033 पर डायल कर सकते हैं.
  • फास्टैग से लिंक्ड मोबाइल पेमेंट ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल करें
  • आपके फास्टैग जारी करने वाले बैंक के मोबाइल ऐप्लीकेशन या प्रीपेड वॉलेट में लॉग इन करें
  • अबअपने फास्टैग अकाउंट को रद्द करने के स्टेप्स को फॉलो करें.
  • FASTag जारी करने वाले बैंक के ऑनलाइन फास्टैग पोर्टल में लॉग इन करें
  • आप अपने फास्टैग को जारी करने वाले बैंक के ऑनलाइन पोर्टल में भी लॉग इन कर सकते हैं.
  • वहां जाकर अपने फास्टैग अकाउंट को बंद करने के लिए जरूरी स्टेप्स को फॉलो करना होगा.

ये भी पढ़ें- SBI ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! अब ATM से रकम निकासी पर बदल गए नियम, जानिए नए रूल

फास्टैग क्या है?

इसके साथ ही आपको बताते चलें कि फास्टैग एक स्टीकर है, जिसे आपकी गाड़ी के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जब आप नेशनल हाइवे पर यात्रा के दौरान किसी भी टोल को क्रॉस करते हैं तो वहां पर लगे स्कैनर गाड़ी पर लगे स्टीकर को डिवाइस रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टेकनीक के जरिए स्कैन कर लेते हैं. इससे आपको जगह जगह रुक कर पेमेंट नहीं करना होता है. 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Trending news