क्या आपके पास भी हैं PF के दो UAN नंबर, तो जरूर पढ़ें यह काम की खबर

दो अलग-अलग UAN नंबर होने से अपने खाते की डिटेल देख पाना काफी मुश्किल काम होता है. पुराने खाते को नए खाते में ट्रांसफर कराने से दिक्कत दूर हो सकती है.

क्या आपके पास भी हैं PF के दो UAN नंबर, तो जरूर पढ़ें यह काम की खबर

अक्‍सर नौकरी बदलते वक्त लोग अपना पीएफ का पैसा निकाल लेते हैं. कई बार लोग दूसरी कंपनी में नया अकाउंट खुलवा लेते हैं. मतलब यह कि पुराने ऑफिस का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) नंबर को नए ऑफिस में न देकर लोग बड़ी भूल करते हैं. क्योंकि, इसके बाद नया UAN जेनरेट होने पर आपको सिर्फ नए ऑफिस की पासबुक ही दिखेगी. दो अलग-अलग UAN नंबर होने से अपने खाते की डिटेल देख पाना काफी मुश्किल काम होता है. पुराने खाते को नए खाते में ट्रांसफर कराने से दिक्कत दूर हो सकती है. लेकिन, क्या यह संभव है. जी बिल्कुल संभव है. दोनों UAN नंबर को एक साथ मर्ज करना आसान है. आइये जानते हैं पूरा प्रोसेस...

ये है पहला तरीका
इसके लि‍ए सबसे जरूरी बात यह है कि आपका EPFO का मेंबर होना आवश्‍यक है. इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी मौजूदा कंपनी को सूचित करना पड़ेगा और EPFO में भी इसकी जानकारी देनी होगी. EPFO को यहां, uanepf@epfindia.gov.in पर मेल के जरिए भी सूचित कर सकते हैं. यहां पुराने व नए दोनों ही यूएएन नंबर भरने होंगे. इसके बाद EPFO आपके दोनों यूएएन नंबर को क्रॉस वैरीफाई करेगा. वैरिफाई करने के बाद पुरान वाला यूएएन नंबर EPFO की तरफ से ब्‍लॉक हो जाएगा. इसके बाद आप अपने पुराने वाले खाते में जमा राशि को नए वाले खाते में जमा कराने के लि‍ए अप्‍लाई कर सकते हैं.

EPFO account merge

ये है दूसरा तरीका
इसका एक तरीका और भी है. वहीं, आपका पीएफ खाता और यूएन आपस में लिंक‍ हो. इतना होने के बाद आपको EPFO के पोर्टल पर एम्प्‍लॉई वन ईपीएफ अकाउंट पर क्लिक करना होगा. यहां पर अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर, यूएएन नंबर और कंपनी की आईडी भरनी होगी. फिर मोबाइल नंबर पर आए वन टाइम पासवर्ड को दि‍ए एक कॉलम में भरना होगा. इसके बाद यहां पर एक नए पेज पर क्लिक करने का ऑप्‍शन होगा, उस पर क्लिक करने के बाद दिए गए कॉलम में पुराने जो भी ईपीएफ है उनकी डिटेल भरनी होगी.

> सबसे पहले EPFO पोर्टल से आपको पुराने पीएफ खाते को नए पीएफ खाते में ट्रांसफर क्लेम करना होगा. 
> ट्रांसफर के लिए रिक्वेस्ट करने के बाद EPFO आपके ट्रांसफर क्लेम को वैरिफाई करेगा. आपको दोनों UAN को लिंक करने के लिए प्रक्रिया शुरू करेगा. 
> ट्रांसफर प्रोसेस होने के बाद EPFO आपके पिछले UAN को ब्लॉक कर देगा. डिएक्टिवेट किए गए UAN का इस्तेमाल इसके बाद नहीं हो सकेगा.
> UAN खाते का मर्ज करने की प्रक्रिया ऑटोमैटिकली पूरी हो जाएगी. जरूरी नहीं इसके लिए एम्प्लॉई ने रिक्वेस्ट की हो.
> एक बार जब EPFO आपके नए UAN को वैरिफाई कर लेगा तो उसे आपके पीएफ खाते से लिंक कर दिया जाएगा.
> EPFO इस संबंध में एम्प्लॉई को SMS के जरिए अलर्ट करेगा कि पुराने UAN को डिएक्टिवेट कर दिया गया है. इसके बाद नए UAN को एक्टिवेट किया जा सकता है.

know how to activate your UAN

इन 5 स्टेप्स से जेनरेट करें अपना UAN

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन(ईपीएफओ) की सर्विस के तहत कोई भी व्यक्ति कुछ स्टेप को फॉलो कर आसानी से अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर ऑनलाइन जेनरेट कर सकता है.

इस स्टेप को फॉलो करें
1. लिंक को ओपन कर यूएएन अलॉटमेंट पर क्लिक करें.
2. क्लिक करने के बाद जो स्क्रीन सामने आएगी उसमें आपको अपना आधार नंबर एंटर कर जेनरेट ओटीपी पर क्लिक करना होगा. उसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा.
3. ओटीपी एंटर करने और डिस्क्लेमर एक्सेप्ट करने के बाद स्क्रीन पर सबमिट बटन का ऑप्शन दिखाई देगा. आगे की प्रोसेसिंग के लिए सबमिट बटन पर क्लिक करना है.
4. सबमिट बटन पर क्लिक करने के बाद आपके आधार से संबंधित जो भी डिटेल फीड है वह स्क्रीन पर दिखाई देगी. उदाहरण के लिए आपका नाम, पिता का नाम, डेट ऑफ बर्थ आदि. अब आप इस डाटा को वैरीफाई कर स्क्रीन पर मांगी गई दूसरी डिटेल दे सकते हैं. 
5. इसके बाद कैप्चा एंटर करने और डिस्क्लेमर एक्पेप्ट करने के बाद आप रजिस्टर बटन पर क्लिक कर अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर आसानी से जेनरेट कर सकते हैं.