सरकारी कर्मचारियों के लिए FD से बेहतर है ये निवेश विकल्प, दे रहा है ज्यादा मुनाफा

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) सरकारी कर्मचारियों के लिए निवेश का सबसे बेहतर विकल्प है. एनपीएस में बैंक के फिक्सड डिपॉजिट से ज्यादा ब्याज मिलता है.

सरकारी कर्मचारियों के लिए FD से बेहतर है ये निवेश विकल्प, दे रहा है ज्यादा मुनाफा
फाइल फोटो

नई दिल्लीः सरकारी कर्मचारियों के लिए निवेश एक चुनौती है. रिटायरमेंट के बाद हर एक सरकारी मुलाजिम ज्यादा से ज्यादा आय चाहता है. नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) सरकारी कर्मचारियों के लिए निवेश का सबसे बेहतर विकल्प है. एनपीएस में बैंक के फिक्सड डिपॉजिट से ज्यादा ब्याज मिलता है. 2004 में केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना में अब कोई भी व्यक्ति निवेश कर सकता है. 

मिलता है 10 फीसदी तक रिटर्न
इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट्स का कहना है कि NPS एक बेहतर विकल्प है. इसमें दिया जा रहा annuity विकल्प इसे बेहतर बनाता है. इस स्कीम में निवेश से आपके पैसे को बढ़ने का ज्यादा मौका मिलता है. अगर कोई  NPS में 50:50 विकल्प को चुनता है जिसमें आधा पैसा डेट में और आधा इक्यूटी में लगाया जाता है तो निवेशक को डेट से 8 फीसदी का रिटर्न मिलता है. NPS में निवेश करने वाले को 10 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है.

NPS स्कीमों में निवेश से आने वाले रिटर्न पर SEBI के registered tax and investment expert मणिकरण सिंघल का कहना है कि NPS स्वैच्छिक निवेश स्कीम है. सिंघल के मुताबिक NPS मं आठ फंड मैनेजर हैं निवेशक अपने निवेश के 60 फीसदी हिस्से के लिए annuity विकल्प को चुन सकते हैं. ये विकल्प चुने जाने के बाद निवेशक रिटायरमेंट पर अपने कुल निवेश का 60 फीसदी रिटायरमेंट पर निकाल सकता है.ये पूरी तरह से टैक्स फ्री होता है. जबिक बाकी के 40 फीसदी पैसे के जरिए निवेशक को पेंशन दी जाती है.

मिलते हैं दो विकल्प
सिंघल के मुताबिक NPS में निवेश के दो विकल्प हैं पहले विकल्प है एक्टिव मोड, इसके तहत निवेशक हर साल अपने रिटर्न का आंकलन करते इक्विटी और डेट के विकल्पों में बदलाव कर सकता है. वहीं ऑटो मोड का विकल्प चुनने पर निवेशक के पैसे को 8 फंड मैनेजर हैंडल करते हैं और बाजार के अनुसार इक्विटी और डेट में बदलाव करते रहते हैं. NPS में निवेश करने पर  आयकर की धारा 80CCD के तहत छूट मिलती है. नेशनल पेंशन सिस्टम या NPS में आपको voluntary तौर पर निवेशक का मौका मिलता है.  

फिलहाल इतना मिला है रिटर्न
केंद्र सरकार की योजना के तहत देश की सबसे बड़ी पेंशन स्‍कीम एसबीआई पेंशन फंड (SBI Pension Fund) ने पिछले 5 साल में निवेश पर 9.93 फीसदी का शानदार रिटर्न (Return) दिया है, जो किसी भी फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) से कहीं ज्‍यादा है. वहीं, एसबीआई (SBI) की दो अन्‍य पेंशन योजनाओं में निवेश पर पिछले 5 साल में 9 फीसदी का शानदार मुनाफा मिला है. बता दें कि एसबीआई पेंशन फंड 10.10 फीसदी निवेश इक्विटीज में करता है.

सरकारी सब्‍सक्राइबर्स को 1 अप्रैल 2019 से पेंशन फंड और इंवेस्‍टमेंट पैटर्न के विकल्‍पों में से अपने लिए बेहतर का चुनाव करने की छूट दे दी गई थी. अगर सब्‍सक्राइबर विकल्‍प नहीं चुनता है तो उसका एनपीएस सहयोग एलआईसी (LIC) पेंशन फंड लिमिटेड, एसबीआई (SBI) पेंशन फंड्स प्राइवेट लिमिटेड और यूटीआई (UTI Retirement Solutions) रिटायरमेंट सॉल्‍यूशंस लिमिटेड में पहले से तय अनुपात में निवेश कर दिया जाता है. यूटीआई रिटायरमेंट सॉल्‍यूशंस ने 5 साल में 9.74 फीसदी तो एलआईसी पेंशन फंड ने 9.57 फीसदी रिटर्न दिया है.

यह भी पढ़ेंः केवल 6 माह के लिए भी करा सकते हैं FD, इन बैंकों ने निकाली है फायदे वाली ये स्कीम

ये भी देखें---