रेलवे का महिलाओं को खास तोहफा, अब राजधानी और शताब्दी में मिलेंगी ये सुविधाएं

वर्तमान में स्लीपर क्लास में 6 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होती हैं. साथ ही लोअर बर्थ की 4 सीटें भी आरक्षित होती हैं.

रेलवे का महिलाओं को खास तोहफा, अब राजधानी और शताब्दी में मिलेंगी ये सुविधाएं
वर्तमान में स्लीपर और एसी क्लास में महिला कोटा का लाभ मिलता है.

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने महिलाओं और दिव्यांगों की सुरक्षा और सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए बड़ा फैसला किया है. अब राजधानी, शताब्दी और दुरंतो एक्सप्रेस में महिलाओं और दिव्यांगों के लिए स्पेशल कोच लगाए जाएंगे. इस कोच को पावर कार की जगह लगाया जाएगा. वर्तमान में महिलाओं के लिए इन प्रीमियम ट्रेनों में स्पेशल कोच की व्यवस्था नहीं थी. हालांकि, पैसेंजर ट्रेन में महिलाओं के लिए एक बोगी आरक्षित होती है. इस बोगी में पुरुष यात्री सवार नहीं हो सकते हैं. सिर्फ 12 साल से कम के बच्चे महिला बोगी में सवार हो सकते हैं.

वर्तमान में भी महिलाओं के लिए रेलवे की तरफ से कई सुविधाएं दी जा रही हैं. जैसे कि, 45 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं को महिला कोटा के तहत प्राथमिकता दी जाती है. इसमें 3 साल तक का बच्चा भी शामिल है. यह सुविधा स्लीपर और एसी दोनों क्लास में उपलब्ध है.

1 मई से शुरू हुई Railway की यह सर्विस!, रिजर्वेशन कराने वालों को होगा फायदा

फिलहाल स्लीपर क्लास में 6 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होती हैं. इसमें महिलाओं की उम्र, यात्रा की दूरी, अकेली या ग्रुप में यात्रा- जैसे बिंदुओं पर ध्यान नहीं दिया जाता है. गरीबरथ एक्सप्रेस में भी थर्ड एसी में महिलाओं के लिए 6 सीटें आरक्षित हैं. इसके अलावा थर्ड एसी में सीनियर सिटिजन, 45 वर्ष से ज्यादा की महिला पैसेंजर और गर्भवती महिलाओं के लिए 4 लोअर बर्थ आरक्षित है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.