Zee Rozgar Samachar

'भारत में 10 अरब डॉलर की प्रतिबद्धता से अधिक होगा निवेश'

स्नैपडील और ओला जैसे भारतीय स्टार्टअप में हजारों डॉलर निवेश करने वाले जापान के सॉफ्टबैंक ने शुक्रवार को भरोसा जताया कि वह भारत में 10 अरब डॉलर की अपनी प्रतिबद्धता से भी अधिक निवेश करेगा क्योंकि उसकी देश में नये अवसरों पर निगाह है। सॉफ्टबैंक के चेयरमैन व मुख्य कार्यकारी मासायोशी सोन ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। उन्होंने कहा- लोकतांत्रिक शासन, भारी जनसंख्या आधार और नयी टैक्नोलॉजी को तेजी से अंगीकार किए जाने के मद्देनजर ‘भारत में श्रेष्ठ अवसर’ हैं।

'भारत में 10 अरब डॉलर की प्रतिबद्धता से अधिक होगा निवेश'

नयी दिल्ली: स्नैपडील और ओला जैसे भारतीय स्टार्टअप में हजारों डॉलर निवेश करने वाले जापान के सॉफ्टबैंक ने शुक्रवार को भरोसा जताया कि वह भारत में 10 अरब डॉलर की अपनी प्रतिबद्धता से भी अधिक निवेश करेगा क्योंकि उसकी देश में नये अवसरों पर निगाह है। सॉफ्टबैंक के चेयरमैन व मुख्य कार्यकारी मासायोशी सोन ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। उन्होंने कहा- लोकतांत्रिक शासन, भारी जनसंख्या आधार और नयी टैक्नोलॉजी को तेजी से अंगीकार किए जाने के मद्देनजर ‘भारत में श्रेष्ठ अवसर’ हैं।

सोन ने यहां एचटी लीडरशिप समिट में कहा,‘इस देश में विशाल जनसंख्या है, लोकतंत्र है, बहुत लोग अंग्रेजी बोलते हैं, यह ऐसा देश है जहां मुझे लगता है कि नयी टैक्नोलॉजी आने वाली है। यह ऐसा देश है जहां मैं निवेश को लेकर बहुत उत्सुक हूं।’ उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी ने बीते कुछ साल में यहां दो अरब डालर का निवेश पहले ही किया है। साफ्टबैंक ने 2014 में घोषणा की थी कि वह अगले दशक में भारत में 10 अरब डॉलर का निवेश करेगी।

सोन ने कहा, ‘मैं अपनी जबान का पक्का हूं हमने बीते कुछ साल में दो अरब डॉलर का निवेश किया है। अभी आठ साल बाकी हैं। हम निवेश की प्रतिबद्धता को लांघ जाएंगे।’ उन्होंने कहा कि सॉफ्टबैंक सौर उर्जा उत्पादन व ‘अनेक इंटरनेट आधारित कंपनियों’ में निवेश कर रही है। उल्लेखनीय है कि इसी साल की शुरआत में सोन भारतीय मीडिया में इसलिए भी चर्चा में आए थे जब उन्होंने फैसला किया कि वह सॉफ्टबैंक की बागडोर भारत में जन्मे निकेश अरोड़ा को सौंपने के बजाय खुद प्रमुख बने रहेंगे।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.