नाबाद 122 रन बनाने के बाद भी रोहित शर्मा निराश, "अपना स्वाभाविक खेल नहीं दिखा सका'

भारत ने आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को छह विकेट से हरा दिया. 228 रनों का लक्ष्य भारत ने 47.3 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया. भारत के लिए रोहित शर्मा ने शतकीय पारी खेली. उन्होंने 144 गेंदों पर 13 चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 122 रन बनाए. 

नाबाद 122 रन बनाने के बाद भी रोहित शर्मा निराश, "अपना स्वाभाविक खेल नहीं दिखा सका'
रोहित के अलावा भारत के लिए महेंद्र सिंह धोनी ने 34 रनों का योगदान दिया.

साउथम्पटन: भारत ने बुधवार को आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को छह विकेट से हरा दिया. 228 रनों का लक्ष्य भारत ने 47.3 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया. भारत के लिए रोहित शर्मा ने शतकीय पारी खेली. उन्होंने 144 गेंदों पर 13 चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 122 रन बनाए. यह विश्वकप में उनका दूसरा शतक है. रोहित के अलावा भारत के लिए महेंद्र सिंह धोनी ने 34 और लोकेश राहुल ने 28 रनों का योगदान दिया. 

मैच के बाद रोहित ने कहा कि वह अपना स्वाभाविक खेल नहीं दिखा सके. मैन ऑफ द मैच रोहित ने कहा, "यहां बल्लेबाजी करना भारत से अलग अनुभव रहा. शुरुआती ओवर में संभलकर खेलना पड़ा और देखना पड़ा कि गेंद क्या कर रही है. अपना स्वाभाविक खेल नहीं दिखा सका. अपने पसंदीदा शॉट खेलने में सावधानी बरती. कई गेंदें छोड़ दी."

रोहित ने जीत का श्रेय साझेदारी को दिया. उन्होंने कहा, "लक्ष्य का पीछा करने के दौरान साझेदारी करना बहुत महत्वपूर्ण था. लक्ष्य छोटा था लेकिन चुनौतीपूर्ण था. यह काम मध्यम क्रम के बल्लेबाजों का था कि वह अपना काम अच्छे से करें. हम हर समय दो बल्लेबाजों पर भरोसा नहीं कर सकते." 

इंग्लैंड के मौसम के बारे में रोहित ने कहा, "मौसम अच्छा था, इसलिए भारत की तुलना में ज्यादा पसीना नहीं आया. यह टिपिकल रोहित शर्मा की पारी नहीं थी लेकिन मुझे अपना काम पूरा करने के लिए संभलकर खेलना पड़ा." 

उधर, भारत के कप्तान विराट कोहली ने कहा लंबे इंतजार के बाद आपको इस तरह का गेम मिलता है. भारतीय कप्तान ने कहा, "सही शुरुआत महत्वपूर्ण थी. यदि आप देखें कि किस तरह से खेल हुआ और किस तरह से पिच ने व्यवहार किया, चुनौतीपूर्ण था. रोहित को सलाम, यह बहुत ही पेशेवर जीत है."