close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: इस वर्ल्ड कप में पहले सेकंड से ही दबाव होगा, कोहली का बयान

दो वर्ल्ड कप में खेल चुके विराट कोहली ने कहा कि उनके लिये आराम का कोई समय नहीं है क्योंकि उन्हें शुरू में ही 4 कड़े मैच खेलने हैं.

World Cup 2019: इस वर्ल्ड कप में पहले सेकंड से ही दबाव होगा, कोहली का बयान
कोहली ने कहा कि आगामी विश्व कप बेहद चुनौतीपूर्ण बन गया है.

मुंबई: भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का मानना है कि राउंड रोबिन प्रारूप में दमदार प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ खेलने से आगामी विश्व कप (World Cup 2019) बेहद चुनौतीपूर्ण बन गया है और इसमें पहली गेंद से ही जुझारू बने रहना 30 मई से शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट में उनकी टीम के लिये अहम होगा. इससे पहले दो विश्व कप में खेल चुके कोहली ने कहा कि उनके लिये आराम का कोई समय नहीं है क्योंकि उन्हें शुरू में ही 4 कड़े मैच खेलने हैं.

विश्व कप में 1992 के बाद पहली बार राउंड रोबिन प्रारूप अपनाया जा रहा है जिसमें प्रत्येक टीम हर टीम से भिड़ेगी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच जून को अभियान शुरू करने के बाद भारत नौ जून को आस्ट्रेलिया, 13 जून को न्यूजीलैंड और 16 जून को पाकिस्तान से भिड़ेगा.

कोहली ने टीम रवानगी से पूर्व संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘निजी तौर पर यह बेहद चुनौतीपूर्ण विश्व कप होगा जिसका मैं हिस्सा बनूंगा क्योंकि टीमें बेहद मजबूत हैं और प्रारूप भी अलग है. अगर आप अफगानिस्तान की 2015 की टीम और अब की टीम को देखोगे तो वह पूरी तरह से बदली हुई टीम है. ’’

यह भी पढ़ें- एक फोटो फ्रेम में नजर आए दो 'खिलाड़ी', फैंस ने किए ऐसे मजेदार कमेंट्स

उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी टीम किसी को भी हरा सकती है. यह बात हमारे दिमाग में है. हमारा ध्यान अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने पर होगा. आपको हर मैच में अपनी क्षमता का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा क्योंकि यहां ग्रुप चरण जैसी स्थिति नहीं है.’’

कोहली ने कहा, ‘‘प्रत्येक टीम से एक बार खेलना सभी टीमों के लिये बहुत अच्छा है. यह अलग तरह की चुनौती होगी और हर टीम को तेजी से सामंजस्य बिठाना होगा.’’

यह भी पढ़ें- World Cup 2019: विराट कोहली को नंबर-4 पर आजमाए भारत, इस दिग्गज खिलाड़ी ने दी सलाह

टीम के पहले चार मैचों के बारे में कोहली ने कहा, ‘‘इससे हमारे लिये लय बनेगी. हर किसी को अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा और पहले मैच से ही प्रबल बने रहना होगा. आत्ममुग्धता के लिये कोई स्थान नहीं है और इसलिए यह विश्व कप और सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम मैदान पर कदम रखते ही इस तरह के दबाव की उम्मीद कर रहे हैं. हम खुद को यह नहीं सोचने देंगे कि पहले सप्ताह के बाद हम दबाव की स्थिति महसूस करेंगे. आपको मैच वाले दिन शत प्रतिशत तैयारी के साथ मैदान पर उतरना होगा और वहां से लय बनानी होगी. यही चुनौती है. ’’

कोहली ने कहा, ‘‘अगर आप फुटबाल के शीर्ष क्लबों को देखो तो वे चाहे प्रीमियर लीग हो या ला लिगा, तीन चार महीनों तक अपनी जुझारूपन बनाये रखना होगा. फिर हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते. अगर हमने लय पकड़ ली और हम अपनी निरंतरता बनाये रखते हैं तो हमें पूरे टूर्नामेंट में इसे बरकरार रखना चाहिए.’’

यह भी पढ़ें- Cricket World Cup 2019: कुलदीप और चहल टीम इंडिया के दो पिलर हैं: विराट कोहली

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच हाल की सीरीज में बड़े स्कोर देखने को मिले लेकिन कोहली ने कहा कि विश्व कप में चीजें बदल सकती हैं. उन्होंने कहा, ‘‘जैसा मैंने कहा कि पिचें बहुत अच्छी होंगी. यह गर्मियों का समय है और परिस्थितियां शानदार होंगी. हम बड़े स्कोर वाले मैचों की उम्मीद कर रहे हैं लेकिन द्विपक्षीय सीरीज की तुलना विश्व कप से नहीं की जा सकती है. यह अलग तरह का है. ’’

कोहली ने कहा, ‘‘इसलिए हम 260-270 वाले मैचों की उम्मीद भी कर सकते हैं. हम विश्व कप में हर तरह की परिस्थिति की उम्मीद कर सकते हैं. ’’

कोहली ने कहा कि उनका गेंदबाजी आक्रमण चुनौती के लिये तैयार है. उन्होंने कहा, ‘‘टीम में शामिल सभी गेंदबाज, यहां तक कि आईपीएल में भी 50 ओवर की क्रिकेट के लिये खुद को तैयार कर रहे थे. आपने सभी गेंदबाजों को गेंदबाजी करते हुए देखा होगा. कोई भी चार ओवर करने के बाद थका हुआ नहीं दिखा. सभी तरोताजा है. उनके दिमाग में शुरू से ही यही बात रही कि 50 ओवरों के मैच के लिये तैयार रहना है. ’’