चित्रकूट जेल में गैंगवार, मुख्तार के करीबी समेत 2 की हत्या, गैंग्स्टर अंशुल दीक्षित का एनकाउंटर

मारा गया एक बदमाश बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी मेराज था. मारा गया दूसरा बदमाश मुकीम काला है. हत्या करने वाले गैंगस्टर अंशुल दीक्षित को जेल पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है. 

चित्रकूट जेल में गैंगवार, मुख्तार के करीबी समेत 2 की हत्या, गैंग्स्टर अंशुल दीक्षित का एनकाउंटर
चित्रकूट जेल में गैंगवार के बाद तैनात पुलिस बल.

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जेल में गैंगवार का मामला सामने आया है. जेल में दो गुटों के बीच हुई फायरिंग में मेराज उर्फ मेराजुद्दीन और मुकीम काला की हत्या हो गई. मेराज बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का बेहद करीबी था. इन दोनों की हत्या करने वाले गैंगस्टर अंशुल दीक्षित को जेल पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है. 

गैंग्स्टर अंशुल दीक्षित को हाल ही में सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट जेल में शिफ्ट किया गया था. अंशुल पूर्वांचल का मशहूर गैंग्स्टर था. चित्रकूट जेल पुलिस ने इस वारदात के बाद उसे एनकाउंटर में मार डाला. वहीं मुकीम काला पश्चिमी उत्तर प्रदेश का इनामी गैंग्स्टर था. 

मुख्तार का खास सहयोगी था मेराज उर्फ मेराजुद्दीन
फायरिंग की सूचना पर पुलिस ने चित्रकूट जेल को छावनी बना दिया. सूत्रों की मानें तो मेराज उर्फ मेराजुद्दीन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का खास गुर्गा बन गया था. वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुख्तार का काम देखता था. इसमें मुस्तकीम काला भी उसकी मदद करता था.

गैंग्स्टर अंशु दीक्षित ने 5 कैदियों को बंदी बना लिया था
एसपी चित्रकूट अंकित मित्तल ने बताया कि ने बताया कि अंशुल दीक्षित ने मुकीम काला और मेराज अली को मारने के बाद पांच कैदियों को बंधक बना लिया था. जेल प्रशासन ने अंशुल से कैदियों को छोड़ने की अपील की, लेकिन वह नहीं माना. पुलिस और अंशुल के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें वह मारा गया. फिलहाल जेल में चेकिंग अभियान चल रहा है. 

मेराज ने पिछले साल किया था आत्मसमर्पण
पिछले साल 3 सितंबर को वाराणसी के जैतपुरा थाने में मेराज के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया था. पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश देती रही और वह फरार रहा. कुछ दिन बाद उसने वाराणसी में ही आत्म समर्पण कर दिया था. 

मुकीम काला पर डकैती और हत्या का आरोप
वहीं मुकीम काला गैंग ने 15 फरवरी 2015 को सहारनपुर के तनिष्क ज्वेलरी शोरूम में डकैती की थी. मुकीम काला और उसके गैंग पर दो सगे भाइयों की हत्या और सहारनपुर में यूपी पुलिस के सिपाही राहुल ढाका की हत्या का आरोप भी है. यूपी एसटीएफ ने 20 अक्टूबर 2015 को मुकीम काला और उसके शार्प शूटर साबिर जंधेड़ी को गिरफ्तार किया था. 

साल 2014 में गिरफ्तार हुआ था अंशुल दीक्षित 
सीतापुर निवासी अंशुल दीक्षित कई आपराधिक मामलों में फरार चल रहा था. वह 2014 आते-आते उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए काफी सिरदर्द बना गया था. इसी साल 5 दिसंबर को यूपी एसटीएफ को सूचना मिली कि अंशुल गोरखपुर में मौजूद है और यहां से नेपाल भागने की फिराक में है. गोरक्षनाथ मंदिर इलाके में यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में अंशुल दीक्षित को गिरफ्तार किया गया था.

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद दूसरी बड़ी वारदात
उत्तर प्रदेश में बागपत जिला जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद यह दूसरा बड़ा मामला है. बागपत जिला जेल में सुनील राठी ने नाइन एमएम पिस्टल से मुन्ना बजरंगी की हत्या की थी. मुन्ना बजरंगी भी पेशी पर उन दिनों बागपत गया था, जबकि सुनील राठी को उत्तराखंड की जेल से बागपत जेल में शिफ्ट किया था. राठी इन दिनों फर्रुखाबाद की फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में बंद है.

UPPSC Exams: कोरोना की वजह से कई एग्जाम टले, अब पूरे साल के कैलेंडर में हो सकता है बदलाव

CM योगी का निर्देश: कोविड अस्पताल में तब्दील होंगे ग्रामीण इलाकों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

WATCH LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.