एयरपोर्ट पर बैग की तलाशी के दौरान यात्री के बदल गए हाव-भाव, CISF ने पकड़ा और फिर...

 एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ की सर्विलांस टीम के जवानों को विदेश यात्रा के लिए जा रहे दो यात्रियों का हावभाव संदिग्ध लगा. उनके साथ दो ट्राली बैग भी थे. 

एयरपोर्ट पर बैग की तलाशी के दौरान यात्री के बदल गए हाव-भाव, CISF  ने पकड़ा और फिर...
तस्करी की सूचना एयरपोर्ट कस्टम अधिकारियों को दी और तीनों तस्करों को उनके हवाले कर दिया गया.

नई दिल्ली: आईजीआई एयरपोर्ट पर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के जवानों ने प्रतिबंधित 127 किलो लाल चंदन की लकड़ी के साथ तीन तस्करों को धर दबोचा. इनके पास से 127 किलो लाल चंदन की लकड़ी बरामद की गई है. सभी हांगकांग जाने की जुगत में थे. आरोपियों की पहचान दीपक सिंह, शेखर शर्मा और जितेन्द्र अहलावत के तौर पर हुई है. तीनों को कास्टम डिपार्टमेंट के हवाले कर दिया गया है. सीआईएसएफ के प्रवक्ता हेमेंद्र सिंह ने बताया कि 28 दिसंबर को आइजीआइ एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ की सर्विलांस टीम के जवानों को विदेश यात्रा के लिए जा रहे दो यात्रियों का हावभाव संदिग्ध लगा.

उनके साथ दो ट्राली बैग भी थे. शक के आधार पर बैग के साथ ही दोनों यात्रियों की जांच की गई. यात्रियों के पास तो कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला. लेकिन एक्स-रे मशीन में जांच में पता चला कि बैग में लाल चंदन की लकड़ी है. बैग में चंदन की लकड़ी पॉलीथिन से छुपाकर रखी गई थी. भारत में इस लकड़ी का आयात और निर्यात प्रतिबंधित है.

जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया. छानबीन में पता चला कि दीपक सिंह और शेखर शर्मा भारतीय हैं और उनका एयर इंडिया की उड़ान से हांगकांग के लिए टिकट बना हुआ था. पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनके एक और साथी के पास चंदन की लकड़ी मौजूद है. उसने शिवाजी मेट्रो स्टेशन पर लाल चंदन की लकड़ी से भरा बैग चेक-इन करवाया है.

इसकी जानकारी के बाद तीसरे तस्कर जितेन्द्र अहलावत को भी जवानों ने टर्मिनल-3 के बोर्डिंग गेट क्षेत्र से दबोच लिया. तीनों तस्करों के पास चंदन की लकड़ी के भरे कुल पांच बैग बरामद हुए. उसमें 127 किलो लाल चंदन की लकड़ी थी. वहीं तस्करी की सूचना एयरपोर्ट कस्टम अधिकारियों को दी और तीनों तस्करों को उनके हवाले कर दिया गया.