close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विदर्भ: शराब तस्करी के आरोप में दो कार चालक गिरफ्तार, भारी मात्रा में शराब बरामद

चंद्रपूर के वरोरा शहर में कार बुकिंग ऐप के जरिए बुक कार से अवैध शराब ब्रिकी का मामला सामने आया है. 

विदर्भ: शराब तस्करी के आरोप में दो कार चालक गिरफ्तार, भारी मात्रा में शराब बरामद
ऐप के जरिए कार बुक कर की जा रही थी शराब की स्मगलिंग.

मुंबई: विदर्भ के चंद्रपूर जिले में राज्य सरकार ने शराबबंदी की है. इसके बाद से यहां शराब तस्करी के अलग-अलग मामले सामने आने लगे हैं. चंद्रपूर के वरोरा शहर में कार बुकिंग ऐप के जरिए बुक कार से अवैध शराब ब्रिकी का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. विदर्भ के चंद्रपूर जिले में शराबबंदी के चलते अवैध शराब तस्करी पर पुलिस की नजर है. गणेशोत्सव भी नजदीक आने के कारण पुलिस ने अवैध शराब के खिलाफ अभियान शुरू किया है. 

पुलिस को सूचना थी कि चंद्रपूर की तरफ से अवैध तरीके से शराब की खेप आ रही है. इसके बाद पुलिस ने नाकाबंदी कर दी. इस दौरान नागपूर से वरोरा शहर की तरफ आने वाली दो गाड़ियां पुलिस ने रोकी. चालक ने गाड़ी रोकने के बजाय स्पीड बढ़ा दी. पुलीस ने इन गाड़ियों का पीछा किया और उन्हें रोकने में सफल रहे. ये गाड़ियां ऐप के जरिए बुक की गई थीं. कार में बैठे यात्रियों के पास से अवैध शराब बरामद की गई. पुलिस ने 2 ड्राइवर के साथ 5 आरोपीयों को गिरफ्तार किया है. आकाश शंकर गुप्ता, संजय रमेश शिखरकर, देवेंद्र शाह, समीर खान, इरशाज अलाम यह पांच आरोपियों के नाम हैं. 

लाइव टीवी देखें-:

वहीं एक अन्य मामले में पल्सर बाइक से अवैध शराब की बात सामने आई है. इसमें पल्सर बाइक पेट्रोल टंकी और सीट के नीचे अवैध शराब तस्करी के लिए जगह बनाई गई थी. इस पल्सर बाइक से अलग-अलग पार्ट से पुलिस ने शराब की बोतलें बरामद की. इन दोनों अवैध शराब के मामले में पुलिस ने 25 लाख की शराब जब्त की है.

वहीं वरोरा के उपविभाग पुलिस अधिकारी निलेश पांडे का कहना है कि आने वाले त्योहारों के मद्देनजर चंद्रपुर जिले में शराबबंदी लागू करने के लिए पुलिस ने ऐतिहातन नाकाबंदी शुरू की है. इसी पेट्रोलिंग के दौरान हमने 2 कारों से शराब बरामद की है. ये कारें ऐप के जरिए नागपुर से वरोरा तक सेल्फ ड्राइव की तर्ज पर बुक की गई थी. शराब तस्करी के लिए निजी वाहन इस्तेमाल न करते हुए कार सवार तस्करों ने ऐप का इस्तेमाल किया है. दूसरी कार्रवाई में एक पल्सर दुपहिया पेट्रोल टैंक को खाली कर शराब तस्करी के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था. पुलिस ने दोनों घटनाओं में 25 लाख रुपयों की शराब और वाहन जब्त किया है. नागपुर निवासी 5 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है.