रंग की वजह से Remo D'Souza को सुननी पड़ी थी खरी-खोटी, विदेश में भी लोग नहीं करते थे अच्छा व्यवहार

बॉलीवुड के कोरियोग्राफर और डायरेक्टर रेमो डिसूजा (Remo D'Souza) ने हाल ही में एक सनसनीखेज खुलासा किया है. रेमो ने बताया कि उन्हें किस तरह से उनके रंग को लेकर अभद्र बातें बोली जाती थीं. देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी रेमो के साथ उनके रंग के आधार पर गलत व्यवहार हुआ है.

रंग की वजह से Remo D'Souza को सुननी पड़ी थी खरी-खोटी, विदेश में भी लोग नहीं करते थे अच्छा व्यवहार
फोटो साभार : इंस्टाग्राम

नई दिल्ली: कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा (Remo D'Souza) हाल ही में अपनी खबरों को लेकर चर्चा में आए थे. एक बार फिर रेमो डिसूजा (Remo D'Souza) ने खबरों में अपनी जगह बनाई है लेकिन इस बार कुछ अलग कारणों की वजह से. रेमो डिसूजा  (Remo D'Souza) ने हाल ही में खुलासा किया है कि उन्हें उनके रंग की वजह से बहुत कुछ सुनना पड़ा है. लोग उनके लिए भद्दे कमेंट्स करते थे.

रेसिज्म पर बोले रेमो

मशहूर कोरियोग्राफर (Choreographer Remo D'Souza) और फिल्म निर्देशक (Film Director Remo D'Souza) रेमो डिसूजा ने हाल ही में एक बड़ा खुलासा किया है कि कैसे बचपन में लोग उनके काले रंग को लेकर चिढ़ाते थे और अजीब कमेंट्स करते थे. रेमो ने बताया कि बहुत ही कम उम्र में उन्हें रेसिज्म (Racism With Remo D'Souza) का शिकार होना पड़ा था. लोग उनके रंग को लेकर बहुत मजाक बनाते थे. शुरुआत में उन्होंने इस चीज को नजरअंदाज किया और आगे बढ़ गए. लेकिन अब कहते हैं कि उस वक्त उन्हें रंगभेद के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए थी.

यह भी पढ़ें-  Karan Johar की पार्टी में एक बार फिर साथ दिखे Kiara और Siddharth, उड़ने लगी अफवाहें

विदेश में भी हुआ रंगभेद

रेमो (Remo D'Souza) कहते हैं कि रंगभेद सिर्फ छोटे शहरों या गांवों की ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की एक कड़वी सच्चाई है जिसे आपको स्वीकार करना पड़ता है. बातचीत के दौरान रेमो ने आगे कहा मैंने बचपन से अपने रंग की वजह से इस समस्या का सामना किया है. केवल भारत में ही नहीं यहां तक कि विदेश यात्राओं के दौरान भी मैंने रेसिज्म का अनुभव किया. जब मैं बड़ा हुआ तो मैं समझ गया कि इस चीज को नजरअंदाज करना गलत था. अब मैं रंगभेद के खिलाफ आवाज उठाने के लिए सक्षम हूं. वो कहते हैं कि मेरे रंग पर उन टिप्पणियों (Racist Comments) ने मुझे आगे बढ़ने में मदद की और मुझे वो बनाया जो आज मैं हूं.

यह भी पढ़ें-  Javed Jaffrey ने बताया, क्या है Navya Naveli और Meezan Jaffrey के बीच का रिश्ता ? 

कोरियाग्राफर से डायरेक्टर बनने तक का सफर

आपको बता दें कि पिछले साल रेमो डिसूजा (Remo Dsouza) को दिला का दौरा पड़ा था. कोरियोग्राफर से डायरेक्टर बने रेमो डिसूजा ने कई हिट फिल्में दी हैं. साल 1995 में 'बॉलीवुड ड्रीम्स' (Bollywood Dreams) के साथ कोरियोग्राफर के रूप में कदम रखने वाले रेमो ने 'चमेली' (Chameli) (2003), 'धूम' (Dhoom) (2004), '36 चाइना टाउन' (36 China Town) (2006), 'दिल्ली हाइट्स' (Delhi Heights ) (2007) जैसी फिल्मों में काम करने के बाद इंडस्ट्री में अपने लिए एक मजबूत मुकाम बनाया है. उनकी पहली निर्देशित फिल्म, F.A.L.T.U, बॉक्स-ऑफिस पर हिट रही है.

यह भी पढ़ें-  Arshi Khan के पक्ष में उतरा सोशल मीडिया, Bigg Boss में वापसी की फैंस कर रहे मांग

एंटरटेनमेंट की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Entertainment Facebook Page को लाइक करें

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.