close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वकील के बाद शार्पशूटर बनीं तापसी पन्नू, फिल्म 'सांड की आंख' में आएंगी नजर

देश की सबसे बुजुर्ग महिला शार्पशूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की कहानी पर फिल्म 'सांड की आंख' बनी है.

वकील के बाद शार्पशूटर बनीं तापसी पन्नू, फिल्म 'सांड की आंख' में आएंगी नजर
(फोटो साभार- @taapsee)

नई दिल्ली : बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू जो फिल्म 'सांड की आंख' में नजर आएंगी, ने कहा कि एक शार्पशूटर की भूमिका निभाना उनके करियर का सबसे जटिल और कठिन अनुभव है. तापसी ने अप्रकाशित 100 हिंदी व अंग्रेजी कविताओं वाली एक किताब 'अनरीड' के विमोचन के मौके पर मीडिया से बातचीत के दौरान यह टिप्पणी की. 

तापसी और भूमि पेडनेकर फिल्म 'सांड की आंख' में निशानेबाज के किरदार में नजर आएंगी जो देश की सबसे बुजुर्ग महिला शार्पशूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की कहानी पर आधारित है. फिल्म की शूटिंग के शेड्यूल के बारे में बात करते हुए तापसी ने कहा कि हमने नौ दिन की शूटिंग पूरी कर ली है. आठ मार्च को 'बिल्ला' की रिलीज है. मैं शूटिंग जारी रखने के लिए वापस उड़ान भरूंगी. अपने अनुभव को साझा करते हुए अभिनेत्री ने कहा कि यह एक कठिन अनुभव रहा है. मुझे लगता है कि यह मेरे करियर की सबसे जटिल भूमिकाओं में से एक है. मुझे नहीं पता कि मैं इसे कैसे करूंगी, लेकिन मैं हर दिन अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगी. 

PICS: अब दुनिया की सबसे बुजुर्ग निशानेबाजों की भूमिका निभाएंगी तापसी और भूमि

फिल्म का शीर्षक 'सांड की आंख' काफी अलग है. फिल्म के निमार्ताओं द्वारा यह शीर्षक रखे जाने का कारण पूछने पर तापसी ने कहा कि सांड की आंख का मतलब अंग्रेजी में 'बुल्स आई' होता है यानि लक्ष्य का केंद्र, लेकिन फिल्म में हमने निशानेबाजों का देसी परिवार दिखाया है इसीलिए हमने यह नाम रखा. 

(इनपुट : IANS)

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें