close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विद्या बालन का खुलासा, 'तमिल प्रोड्यसूर ने महसूस कराया इतना बदसूरत कि...'

'दि डर्टी पिक्चर' में साउथ की प्रसिद्ध एक्‍ट्रेस सिल्‍क स्‍मिता का किरदार निभा चुकीं विद्या ने कहा, "उन्होंने पहले ही मुझे फिल्म से निकाल दिया था. मगर मेरे पिता ने निर्माता को फोन करके पूछा कि क्या वह मिल सकते हैं? क्योंकि वह जानना चाहते थे कि क्या गलत हो रहा है."

विद्या बालन का खुलासा, 'तमिल प्रोड्यसूर ने महसूस कराया इतना बदसूरत कि...'
'दि डर्टी पिक्‍चर' के लिए विद्या राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार जीत चुकी हैं.

नई दिल्‍ली: विद्या बालन इन दिनों अपनी फिल्‍म 'मिशन मंगल' के लिए तारीफें बटौर रही हैं. इस फिल्‍म में विद्या का अंदाज काफी पसंद किया जा रहा है. यूं तो विद्या इन दिनों गिनीचुनी फिल्‍मों में ही नजर आ रही हैं, लेकिन वह जब भी स्‍क्रीन पर आती हैं, दर्शकों की काफी तारीफ उन्‍हें मिलती है. लेकिन बॉलीवुड से इतर, उनकी मानें तो टॉलीवुड (साउथ इंडियन फिल्‍म इंडस्‍ट्री) में काफी संघर्षो का सामना करना पड़ा था. यहां तक की साउथ में उन्‍हें कई बार रिजेक्‍ट भी किया गया. 'तुम्‍हारी सुलु', 'कहानी' जैसी फिल्‍मों में जबरदस्‍त अभिनय कर चुकीं विद्या बालन को तमिल के एक प्रोड्यूसर ने इस कदर बदसूरत महसूस कराया था कि उन्‍होंने आईने में खुद की शक्‍ल ही देखनी बंद कर दी थी. 

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस के अनुसार अपने एक हालिया इंटरव्‍यू में विद्या ने खुलासा किया, "टॉलीवुड में मुझे कई रिजेक्‍शन्‍स मिले. कई मलयालम फिल्मों में से मुझे अचानक निकाल दिया जाता था. मैं एक तमिल फिल्म कर रही थी और मुझे उससे निकाल दिया गया. मुझे याद है कि मेरे पैरेंट्स मेरे साथ गए थे, क्योंकि वे मुझे लेकर परेशान हो गए थे." उन्होंने कहा, "मेरे पिता और मैं फिल्म निर्माता से मिलने पहुंचे. निर्माता ने हमें कुछ क्लिप्स दिखाए और कहा, इसे देखिए, क्या यह अभिनेत्री जैसी दिखती है? मैं पहले ही इसे नहीं लेना चाहता था, मगर डायरेक्टर के कहने की वजह से इसे ले लिया."

Vidya Balan

'दि डर्टी पिक्चर' में साउथ की प्रसिद्ध एक्‍ट्रेस सिल्‍क स्‍मिता का किरदार निभा चुकीं विद्या ने कहा, "उन्होंने पहले ही मुझे फिल्म से निकाल दिया था. मगर मेरे पिता ने निर्माता को फोन करके पूछा कि क्या वह मिल सकते हैं? क्योंकि वह जानना चाहते थे कि क्या गलत हो रहा है."

विद्या ने कहा कि उनके लिए वह मुश्किल समय था. उन्होंने कहा, "मुझे महसूस कराया गया कि मैं बदसूरत हूं. महीनों तक बेहद खराब महसूस कर रही थी. मुझे नहीं लगता कि उस समय मैंने खुद को कभी आईने में देखा होगा. जो मैं देखती थी, वह मुझे पसंद नहीं आता था, क्योंकि मुझे लगता था कि मैं बदसूरत हूं. मैंने लंबे समय तक उस आदमी को माफ नहीं किया, लेकिन आज इसके लिए धन्यवाद देती हूं. मुझे एहसास हुआ कि मुझे अपने आप को उसी तरह से प्यार करना है और स्वीकार करना है, जैसी मैं हूं."

vidya balan

बता दें कि साल 2005 में विद्या बालन ने फिल्‍म 'परिणीता' से बॉलीवुड में धमाकेदार एंट्री की थी. इसके बाद वह 'लगे रहो मुन्ना भाई', 'पा', 'इश्‍कियां', 'नो वन किल्‍ड जैसिका', 'कहानी' जैसी कई हिट फिल्‍मों में नजर आ चुकी हैं. 'दि डर्टी पिक्‍चर' के लिए विद्या राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार भी जीत चुकी हैं. 

(इनपुट आईएएनएस से भी)

बॉलीवुड की अन्‍य खबरें पढ़ें.