close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिवाली पर देश की हर रसोई से एक ख़ास मिठाई, जानिए कैसे बनाएं...

ड्राइफ्रूट्स से भरपूर पिन्नी के लड्डू अपने आप में ख़ास हैं. आटे से बनने वाले ये लड्डू आप पूरी सर्दिया खा सकते हैं

दिवाली पर देश की हर रसोई से एक ख़ास मिठाई, जानिए कैसे बनाएं...

दिल्ली : दिवाली (Diwali) नजदीक है, बाजार सजे हुए है, स्कूलों की छुट्टियां पड़ चुकी हैं अब इंतजार है तो बस 27 अक्टूबर का, दिवाली वाले दिन का... दिवाली पर आने वाले मेहमानों के लिए ख़ास डिशेस जो बनानी है, कौन नहीं चाहेगा की साल में एक बार आने वाले इस महापर्व में कुछ अलग, कुछ ख़ास हो जो की पूरे साल रिश्तेदारों की जुबान पर अपने स्वाद का चस्का छोड़ जाये. 

आज इस मौके पर आईये जानते हैं कुछ ऐसी ही लज़ीज डिशेस के बारे में जिन्हें आप इस साल अपनी स्पेशलिटी के तौर पर मेहमानों को परोस सकते हैं.

LIVE TV...

पंजाब के पिन्नी लड्डू
ड्राइफ्रूट्स से भरपूर पिन्नी के लड्डू अपने आप में ख़ास हैं. आटे से बनने वाले ये लड्डू आप पूरी सर्दिया खा सकते हैं, जरुरत है तो बस इनको एयर टाइट कंटेनर में रखने की. पंजाब में इन लड्डुओं को दिवाली से पहले बनाकर रख दिया जाता है. शुद्ध देशी घी में पहले आटे को हल्का भूरा होने तक भुना जाता है, उसके बाद इसमें भरपूर ड्राइफ्रूट्स और चीनी डालकर इन्हे लड्डू का आकार दिया जाता है.

पिन्नी लड्डू

ओडिशा के गुलगुले
गुलगुला एक ओड़िआ डिश है लिहाजा इसे बाकि हिंदुस्तान में भी खासा पसंद किया जाता है पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तो नयी बहु से पहली रसोई में यही डिश बनवायी जाती है. गुलगुला गेंहू के आटे से बनने वाला एक व्यंजन है. मजेदार बात तो ये है की इसे बनाने में न ज्यादा मेहनत की जरूरत है और न ही ज्यादा सामग्री की. इस स्वादिष्ट व्यंजन को बनाने में के लिए बस आटे, तेल और चीनी की जरूरत होती है

गुलगुले

उत्तराखंड की सिंघल
सिंघल सूजी से बनने वाली उत्तराखंड की स्पेशल डिश है, जिसे दिवाली पर बड़े चाव से खाया और बनाया जाता है, ये दिखने में जितनी अजीज है खाने में उससे भी कही ज्यादा लजीज होती है. नरम और स्पंजी ये डिश सूजी, केला, दही, दूध, चीनी, और इलायची को मिलाकर बनायीं जाती है.

सिंघल

ओडिशा की रसाबली
रसाबली भगवान जगन्नाथ को चढ़ने वाले छप्पन भोग में से एक है. ये डिश लिहाजा दो अलग हिस्सों में होती है पहली छेना और दूसरा रबड़ी, जिसे खाने से पहले मिलाकर खाया जाता है. ये डिश सूजी, मैदा, चीनी और दूध से बनाई जाती है. ओडिशा में ये व्यंजन भगवान बलराम को प्रसाद स्वरुप चढ़ाया जाता है.

रसाबली

महाराष्ट्र की दीपावली मारुंडु
काफी सारी मिठाइयां तो खा ली अब सेहत का क्या? ये व्यंजन न सिर्फ खाने में बेहद स्वादिष्ट होता है बल्कि आपके पाचन को भी संभाले रखते है. महाराष्ट्र में ये डिश दिवाली पर इसीलिए बनाई जाती है ताकि दिवाली पर अलग अलग तरीके का खाना और मिठाइयां खाने के बाद ज्यादातर सेहत बिगड़ जाती है और पाचन तंत्र गड़बड़ा जाता है, जिसके लिए आप इस डिश का सेवन करके न सिर्फ अपनी लिस्ट में एक और व्यंजन जोड़ सकते हैं बल्कि अपनी और अपने परिवार की सेहत का भी ख्याल बखूबी रख सकते है.

मारुंडु