वजन घटाने की सोच रहे हैं तो कभी न करें ये गलती, वर्ना होगा उल्टा असर

आम कैंसर सहित अन्य बीमारियों से बचाता है. आम में पाया जाने वाला बायोएक्टिव कंपाउंड और फाइटोकेमिकल वसा से जुड़े जीन को दबा देता है.

वजन घटाने की सोच रहे हैं तो कभी न करें ये गलती, वर्ना होगा उल्टा असर
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: आम गर्मी के मौसम का फल है. यह स्वाद में रसीला ही नहीं बल्कि सेहत के लिए भी कई मायनों में फायदेमंद होता है. आम कैंसर सहित अन्य बीमारियों से बचाता है. आम में पाया जाने वाला बायोएक्टिव कंपाउंड और फाइटोकेमिकल वसा से जुड़े जीन को दबा देता है. जिससे शरीर पर अतिरिक्त चर्बी नहीं जमती है. शरीर का वजन भी घटता है.

शरीर के फैट को घटाए
आम में विटामिन-सी अधिक मात्रा में पाया जाता है. जो इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने के साथ ही फैट को भी कम करता है.

ये भी पढ़ें- कच्चे आम की लौंजी बनाएगी लिवर को मजबूत, ये रही आसान रेसिपी

आम खाने का सबसे अच्छा समय
आम को ब्रेकफास्ट या लंच के बाद खाया जा सकता है. रात को सोने से पहले या खाने के तुरंत बाद आम खाने से बचना चाहिए वरना आपका पाचन खराब हो सकता है. आम को खाने से एक घंटे पहले या खाना खाने के दो घंटे बाद खाना चाहिए.

ये भी पढ़ें- साउथ इंडियन जायका: पेट के साथ इम्यूनिटी भी स्ट्रॉन्ग रखेगी रसम, ये रही रेसिपी

रोज कितना खाएं आम
अन्य फलों की तरह आम भी सीमित मात्रा में खाना चाहिए. चूंकि अन्य फलों की अपेक्षा आम अधिक मीठा होता है इसलिए हर रोज सिर्फ एक कप आम खाना चाहिए. आम बहुत ही पौष्टिक फल होता है. इसे सीमित मात्रा में खाने से सेहत अच्छी रहती है. वजन भी नहीं बढ़ता है. डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए.