गठिया रोगियों के लिए वरदान है अजवाइन और अदरक, इस तरह से करें इस्तेमाल

गठिया बहुत सामान्य समस्या है जो आपके सामने कई रूपों में आ सकती है. कभी-कभी तकलीफ इतनी बढ़ जाती है कि आपको चलने-फिरने में भी दिक्कत हो सकती है.

गठिया रोगियों के लिए वरदान है अजवाइन और अदरक, इस तरह से करें इस्तेमाल

नई दिल्ली: आपके शरीर के जोड़, घुटने, कूल्हे, कंधे या फिर पूरे शरीर में बिना किसी खास वजह से दर्द (Pain) और सूजन (Swelling) हो तो सतर्क हो जाएं, आप गठिया (Gout) की गिरफ्त में हो सकते हैं. गठिया बहुत सामान्य समस्या है जो आपके सामने कई रूपों में आ सकती है. कभी-कभी तकलीफ इतनी बढ़ जाती है कि आपको चलने-फिरने में भी दिक्कत हो सकती है. गठिया का मुख्य कारण है शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड (Uric Acid). यूरिक एसिड के कण धीरे-धीरे जोड़ों पर जमा हो जाते हैं और फिर सूजन और दर्द का कारण बनते हैं.

ये यूरिक एसिड प्यूरिन के टूटने से शरीर के अंदर बनता है. गठिया की बीमारी महिलाओं और पुरुषों दोनों की हो सकती है. गठिया के लिए बाजार में कई तरह की दवाइयां (Medicine) मौजूद हैं, लेकिन शरीरिक श्रम और कुछ घरेलू उपायों से भी इसका उपचार संभव है. गठिया रोगियों के लिए अदरक (Ginger) और अजवाइन (Carom Seeds) का प्रयोग बहुत फायदेमंद है. आइए आपको बताते हैं इसका इस्तेमाल और क्या हैं फायदे (Benefits of Ginger and Carom Seeds).

-एक पैन में डेढ़ कप पानी लें और इसमें आधा चम्मच अजवाइन और एक इंच का टुकड़ा अदरक काटकर या कूचकर डालें. इसे 6-7 मिनट तक उबालें ताकि अदरक और अजवाइन का अर्क पानी में आ जाए. इसके बाद इस काढ़े को छानकर पिएं.
-आप दिन में 2 बार इसी तरह अदरक और अजवाइन के काढ़े या चाय को उबालकर पिएं. इससे आपके शरीर में पसीना आएगा और आपका यूरिक एसिड प्राकृतिक रूप से कम होगा.

अरंडी के तेल से करें मालिश
ऊपर बताए गए तरीके से अदरक और अजवाइन का काढ़ा तो आप पिएं ही पिएं, साथ ही गुनगुना करके दर्द की जगह पर अरंडी के तेल (Castor Oil) से मालिश करें, तो भी आपका यूरिक एसिड टूटकर बाहर निकल जाएगा. इसके अलावा अरंडी के तेल से मालिश करने से आपका दर्द कम होगा और सूजन दूर हो जाएगी.

ये भी पढ़ें, जानें किस उम्र की महिला को लेनी चाहिए कितनी नींद, जिससे बनी रहेगी सेहत और हमेशा दिखेंगी जवान

लहसुन है बेहद लाभकारी
गठिया के ‌इलाज में लहसुन सबसे जाना-माना और लाभकारी इलाज है. इसको रोजाना लेने से गठिया के रोग में आराम मिलता है. सामान्यता कच्चे लहसुन की तीन से चार कलियां सुबह खाली पेट लेना आरामदायक होता है. वैसे अगर इसे खाना पसंद न हो तो इसमें सेंधा नमक, जीरा, हींग, पीपल, काली मिर्च और सौंठ सभी की 2 – 2 ग्राम मात्रा लेकर अच्‍छे से पीस लें. इस पेस्‍ट को अरंडी के तेल में भून लें और बॉटल में भर लें. दर्द होने पर लगा लें, इससे फायदा मिलेगा.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.