ठंड में बच्चों से बुजुर्गों तक को पसंद होता है गाजर का हलवा, जानिए क्या हैं फायदे..
topStories1hindi1459107

ठंड में बच्चों से बुजुर्गों तक को पसंद होता है गाजर का हलवा, जानिए क्या हैं फायदे..

Gajar Ka Halwa Benefits: सर्दियों में जो एक चीज सभी के जुबान पर रहती है, वो है गाजर का हलवा. गाजर का हलवा हर व्यक्ति की पसंद और इसका नाम सुनते ही  मुंह में पानी आ जाता है. आज जानिए इस डिश के फायदे के बारे में..

 

ठंड में बच्चों से बुजुर्गों तक को पसंद होता है गाजर का हलवा, जानिए क्या हैं फायदे..

Gajar Ka Halwa: सर्दियों के मौसम में हर घर में एक सभी की फेवरेट डिश बनती है, वो है गाजर का हलवा. मीठे में ये डिश सभी की खास होती है. बच्चों सो लेकर बड़ों और बुजुर्गों तक सभी इसे बड़ी ही शौक से खाना पसंद करते हैं. लेकिन क्या गाजर का हलवा सिर्फ शौक के लिए खाया जाता है? या गाजर का हलवा खाने के कुछ फायदे भी होते हैं. दरअसल, गाजर में कैरीटोनॉइड, पोटैशियम, विटामिन, विटामिन ए जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर को अलग-अलग फायदे पहुंचाते हैं. गाजर ब्लड प्यूरीफिकेशन से लेकर वजन घटाने तक में मददगार है. आइए जानते हैं इसके अन्य फायदे के बारे में..

आंखों की रोशनी
आपको बता दें, गाजर में विटामिन ए, सी और फाइबर पाएं जाते हैं. विटामिन ए हमारी आंखों की रोशनी में सुधार करता है और इम्यूनिटी को मजबूत बनाता है. इसलिए ठंडियों में आप बिना किसी फिक्र के गाजर का हलवा खा सकते हैं. 

त्वचा की देखभाल
गाजर सेहत के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है. साथ ही त्वचा के लिए भी गाजर बहुत गुणकारी होती है. गाजर का हलवा त्वचा को बाहरी प्रदूषण के साथ यूवी किरणों से भी बचाने में मददगार हो सकता है. इसमें बीटा-कैरोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो त्वचा की देखभाल करता है.

घुटनों के दर्द में राहत
गाजर का हलवा बनाने के लिए दूध का इस्तेमाल किया जाता है, या फिर खोया मिलाया जाता है. दूध में कैल्शियम होता है. इससे हड्डियों के घनत्व में सुधार और पोरस बोन (ऑस्टियोपोरोसिस ) की स्थिति को भी रोकने में ये मदद करता है. अगर हलवा बनाने के लिए गाय के दूध का इस्तेमाल किया जाए तो शरीर को इससे और ज्यादा फायदे मिलेंगे. गाय के दूध में विटामन डी, प्रोबायोटिक्स और इम्युनोग्लूबोलिन होता है जो सर्दियों के इंफेक्शन के खिलाफ हमारी इम्यूनिटी को बढ़ाता है.

वजन होता है कम
गाजर का हलवा बनाते समय आप ध्यान रखें कि इसमें चीनी हल्की ही डालें. आपको बता दें गाजर की जड़ें रेशेदार होती हैं इसलिए इन्हें पचने में ज्यादा समय नहीं लगता है. इससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है और व्यर्थ भूख नहीं लगती. सर्दियों में लोग शरीर को ऊर्जा देने के लिए अधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन कर लेते हैं जिससे उनका वजन बढ़ने लगता है.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है. 

Trending news