इस तरह से करें तिल का इस्तेमाल, डायबिटीज के मरीजों को होगा बड़ा फायदा

डायबिटीज रोगी के लिए हेल्दी डाइट के साथ-साथ ऐसे फूड की जरूरत होती है, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकता हो. आज के समय में डायबिटीज डाइट को लेकर तमाम सुझाव दिये जाते हैं. लेकिन हेल्दी डाइट के साथ स्वाद का भी ख्याल बेहद जरूरी होता है.

इस तरह से करें तिल का इस्तेमाल, डायबिटीज के मरीजों को होगा बड़ा फायदा
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: डायबिटीज रोगी के लिए हेल्दी डाइट के साथ-साथ ऐसे फूड की जरूरत होती है, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकता हो. आज के समय में डायबिटीज डाइट को लेकर तमाम सुझाव दिये जाते हैं. लेकिन हेल्दी डाइट के साथ स्वाद का भी ख्याल बेहद जरूरी होता है. डायबिटीज के मरीजों (Patients of diabetes) को अपने नियमित आहार को लेकर बहुत ही सजग रहने की जरूरत है. ज्यादातर डायबिटीज या मधुमेह के मरीजों (Diabetes patients) को संतुलित आहार लेने की सलाह दी जाती है.

ऐसा करने से आप ब्लड शुगर लेवल में अचानक से होने वाले उछाल को रोक सकते हैं. डाइट एक्सपर्ट्स के अनुसार डायबिटीज रोगी अपनी डाइट में तिल के बीच (Diabetes Diet Sesame Seeds) और तेल दोनों शामिल कर सकते हैं. तिल का बीज न केवल ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है बल्कि सेहत के लिए जरूरी पोषण देने का भी काम करता है. आइये जानते हैं इसके फायदे.

-सबसे पहले आप तिल के बीज को भूनकर रख लें और जब भी भूख लगे तो थोड़ा सा खा लें. आप इसमें गुड़ भी थोड़ा सा मिला सकते हैं.
-आप भूने हुए तिल के बीज को दही, छाछ और सलाद के साथ मिलाकर भी खा सकते हैं.
-अगर आपको भूना हुआ तिल का बीज नहीं खाना है तो आप इसे रोटी के आटे में मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
-आप तिल के बीज को आटे के साथ पीस कर रख लें. इस आटे की रोटी भी आप खास सकते हैं.
-आप तिल के बीज का इस्तेमाल सब्जी बनाने में भी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें, दिल के लिए फायदेमंद है काजू, इसे रोजाना खाने से होते हैं अचूक फायदे

-डायबिटीज रोगियों को ऐसी डाइट की जरूरत होती है जिसमें बहुत कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट हो. इसके अलावा ऐसे फूड हों जिनमें फाइबर, प्रोटीन और मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा हो.
-मधुमेह रोगियों के लिए तिल का बीज इसीलिए फायदेमंद है क्योंकि इसमें फाइबर, प्रोटीन के साथ मैग्नीशियम की मात्रा पर्याप्त मात्रा में पायी जाती है. मैग्नीशियम की मात्रा ब्लड शुगर को कंट्रोल करने का काम करती है.
-डायबिटीज रोगियों के लिए तिल का बीज ही नहीं तिल का तेल भी फायदेमंद होता है. खाना बनाने में तिल के तेल का इस्तेमाल डायबिटीज रोगी कर सकते हैं.
-तिल के तेल में पाये जाने वाले यौगिक हाई ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ इंसुलिन की संवेदनशिलता को बढ़ाते हैं.
-डेली डाइट में तिल का तेल शामिल करने से मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है. मेटाबॉलिक रेट बेहतर होने से पाचन तंत्र बेहतर होता है. डायबिटीज रोगियों के लिए बेहतर पाचन तंत्र की बहुत जरूरत होती है.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय करने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें)