ये विटामिन बनेगा 'रामबाण', स्किन कैंसर से होगा बचाव

शोधकर्ताओं ने स्किन कैंसर के मरीज की त्वचा से कोशिकाओं (ह्युमन प्राइमरी केराटिनोसाइट्स) को अलग कर दिया. जिन्हे कोटीनमाइड (NAM) के 3 अलग-अलग कंसनट्रेशंस में  18, 24 और 48 घंटों तक ट्रीटमेंट किया, जो कि विटामिन B3 का एक रूप है. इसके बाद स्किन सेल्स को यूवीबी (UVB) से संपर्क कराया गया.

ये विटामिन बनेगा 'रामबाण', स्किन कैंसर से होगा बचाव
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः  विटामिन B3 आपके लिए कई तरह से लाभदायक होता है. जी हां, शरीर के लिए अन्य पोषक तत्वों की तरह विटामिन B3 की भी भूमिका महत्वपूर्ण हैबहुत कम लोगों का मालूम है कि बिटामिन B3 स्किन कैंसर के खतरे से आपको सुरक्षित रखता है. इस बात का खुलासा हाल ही में किए गए एक शोध में हुआ है. दरअसल शोधकर्ताओं को अपने अध्यन में विटामिन B3 के बारे में नए गुण का पता चला है. हाल ही में किए गए एक रिसर्च में पचा चला है कि,  विटामिन बी 3 (Vitamin B3 ) का एक रूप त्वचा की कोशिकाओं को पराबैंगनी किरणों  यानि यूवी रेज़ (UV Rays) के प्रभाव से बचा सकता है. जो कि नॉन-मेलेनोमा कैंसर (Non-melanoma skin Cancer) का रिस्क कम करता है. 

दिन व दिन विश्व में बढ़ रहे स्किन कैंसर के मामले
जानकारी के लिए बता दें कि नॉन-मेलेनोमा स्किन कैंसर (Non-melanoma skin Cancer),  सबसे कॉमन स्किन कैंसर का प्रोटोटाइप है. इसकी चपटे में कोई भी आ सकता है. कैंसर के ऐसे मामलों की संख्या दुनिया भर में तेजी से बढ़ रही है. यूवी रेज डैमेज को इस प्रकार के कैंसर का एक मुख्य कारक माना जाता है. इटली में हुए इस शोध में खुलासा हुआ है कि नॉन-मेलेनोमा स्किन कैंसर वाले रोगियों में विटामिन B3 के सेवन से बेहतर परिणाम सामने आए.

ये भी पढ़ें- कैसे पता करें आयोडीन की कमी है नहीं, यहां जानें दूर करने के उपाय भी

रिजल्ट से पता चला कि यूवी विकिरण से 24 घंटे पहले एनएएम के 25 माइक्रोन (UAM) के साथ पूर्व उपचार ने DNA क्षति सहित यूवी-प्रेरित ऑक्सीडेटिव तनाव के प्रभाव से त्वचा की कोशिकाओं की रक्षा की. एनएएम ने डीएनए रिपेयर की क्षमता को बढ़ाया, जिससे डीएनए रिपेयर एंजाइम ओजीजी 1 की एक्सप्रेशन में कमी आई.

इस तरह से किया गया शोध
शोधकर्ताओं ने स्किन कैंसर के मरीज की त्वचा से कोशिकाओं (ह्युमन प्राइमरी केराटिनोसाइट्स) को अलग कर दिया. इन कोशिकाओं को निकोटीनमाइड (NAM) के 3 अलग-अलग कंसनट्रेशंस में  18, 24 और 48 घंटों तक ट्रीटमेंट किया, जो कि विटामिन B3 का एक रूप है. इसके बाद स्किन सेल्स को यूवीबी (UVB) से संपर्क कराया गया.

विटामिनि B3 की कमी को पूरा करने के लिए करें इन चीजों का सेवन
विटामिन B3 रोजमर्रा के में प्रयोग आने वाली तमाम खाने वाली चीजों में पाया जाता है. इस सूची में मूंगफली, मशरूम, मटर, राजमा, अनाज, दाल, ब्रोकली, सूरजमुखी के बीज, कॉफी (Coffee) शिमला मिर्च और आलू जैसी तमाम सब्जियों और ताजे फल शामिल है.
 

Video-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.