close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मानवता के आधार पर भारतीय सेना तोड़ेगी प्रोटोकॉल, पाक सेना को सौंपा जाएगा बच्‍चे का शव

किशनगंगा नदी से बरामद किए गए बच्‍चे के शव की कर ली गई है. मृतक बच्‍चा मूल रूप से पाक अधिकृत कश्‍मीर के गलगिट इलाके के अंतर्गत आने वाले मिनिमर्ग इलाके का रहने वाला है. 

मानवता के आधार पर भारतीय सेना तोड़ेगी प्रोटोकॉल, पाक सेना को सौंपा जाएगा बच्‍चे का शव
गुजेर इलाके में गश्‍त के लिए निकली भारतीय सेना की टुकड़ी ने बच्‍चे के शव को किशन गंगा नदी से बरामद किया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: मानवीयता को सर्वोपरि रखते हुए भारतीय सेना ने एक बड़ा फैसला लिया है. फैसले के तहत, भारतीय सेना निर्धारित प्रोटोकॉल को नजरअंदाज कर एक पाकिस्‍तानी बच्‍चे का शव पाक रेंजर्स के हवाले करने जा रही है.  उल्‍लेखनीय है कि इस पाकिस्‍तानी बच्‍चे का शव गुरेज इलाके में किशनगंगा नदी से भारतीय सेना ने बरामद किया था. 

उल्‍लेनीय है कि जम्‍मू और कश्‍मीर के बांदीपुरा जिले के अंतर्गत आने वाले गुरेज इलाके में सेना के जवान गश्‍त पर निकले हुए थे. गश्‍त के दौरान, सेना के जवानों को भारत और पाकिस्‍तान के बीच बहने वाली किशनगंगा नदी में एक बच्‍चे का शव तैरते हुए दिखाई दिए. सेना के जवानों ने मानवीयता के आधार पर पूरे सम्‍मान के साथ बच्‍चे के शव को नदी से बाहर निकाला. 

सूत्रों के अनुसार, नदी के बहाव और बच्‍चे के हुलिए को देखकर यह अंदाजा लगाया गया कि बच्‍चा पाकिस्‍तान मूल का है और उसका शव नदी में बहकर भारतीय सीमा में आ गया. भारतीय सेना ने मामले की नजाकत समझते हुए तत्‍काल हॉट लाइन से इसकी जानकारी पाकिस्‍तान के सैन्‍य अधिकारियों को दी. बच्‍चे की पहचान पुख्‍ता करने के बाद पाकिस्‍तानी सैन्‍य अधिकारियों ने बच्‍चे से जुड़ी जानकारी भारतीय सेना से साझा की. 

सूत्रों ने अनुसार, नदी से बरामद किए गए बच्‍चे के शव की कर ली गई है. मृतक बच्‍चा मूल रूप से पाक अधिकृत कश्‍मीर के गलगिट इलाके के अंतर्गत आने वाले मिनिमर्ग इलाके का रहने वाला है. इलाके के आबिद शेख नामक शख्‍स ने भारतीय सेना से बच्‍चे के शव को वापस करने की गुजारिश की है. वहीं मानवीयता को सर्वोप‍रि रखते हुए भारतीय सेना ने बच्‍चे को शव को पाक के हवाले करने का फैसला लिया है.

(इनपुट: ईशान वानी)