विधानसभा चुनाव परिणाम 2017 : यूपी, उत्तराखंड में भाजपा तो पंजाब में लहराया कांग्रेस का परचम, मणिपुर और गोवा में खण्डित जनादेश

भाजपा ने उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड विधानसभा चुनावों में जीत का शानदार परचम लहराया तथा कांग्रेस ने पंजाब में अपनी सफलता की जोरदार दस्तक दी. इसके अलावा कांग्रेस गोवा और मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी जहां के विधानसभा चुनावों में खण्डित जनादेश आया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के कुशल नेतृत्व में भाजपा ने उत्तर प्रदेश एवं पड़ोसी उत्तराखंड में तीन चौथाई बहुमत हासिल कर अपनी विजय का शंखनाद किया. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत उन दोनों सीटों पर हार गये, जहां से वह चुनाव लड़े थे.

विधानसभा चुनाव परिणाम 2017 : यूपी, उत्तराखंड में भाजपा तो पंजाब में लहराया कांग्रेस का परचम, मणिपुर और गोवा में खण्डित जनादेश
यूपी, उत्तराखंड में भाजपा का लहराया परचम

नई दिल्ली : भाजपा ने उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड विधानसभा चुनावों में जीत का शानदार परचम लहराया तथा कांग्रेस ने पंजाब में अपनी सफलता की जोरदार दस्तक दी. इसके अलावा कांग्रेस गोवा और मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी जहां के विधानसभा चुनावों में खण्डित जनादेश आया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के कुशल नेतृत्व में भाजपा ने उत्तर प्रदेश एवं पड़ोसी उत्तराखंड में तीन चौथाई बहुमत हासिल कर अपनी विजय का शंखनाद किया. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत उन दोनों सीटों पर हार गये, जहां से वह चुनाव लड़े थे.

उत्तर प्रदेश चुनाव परिणाम : भाजपा गठबंधन- 325 सीट, सपा-कांग्रेस गठबंधन- 54 सीट, बहुजन समाज पार्टी- 19 सीट, अन्य- 10 सीट

उत्तराखंड चुनाव परिणाम : भाजपा- 56 सीट, कांग्रेस- 11 सीट, अन्य- 2 सीट

पंजाब चुनाव परिणाम : कांग्रेस- 77 सीट, आम आदमी पार्टी- 22 सीट, अकाली-भाजपा गठबंधन- 18 सीट

गोवा चुनाव परिणाम : कांग्रेस- 17 सीट, भाजपा- 13 सीट, अन्य- 10 सीट

मणिपुर चुनाव परिणाम : कांग्रेस- 28 सीट, भाजपा- 21 सीट, टीएमसी- 1 सीट, अन्य- 10 सीट

राजनीतिक रूप से बेहद महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश में भाजपा ने सत्ता से 15 साल के बनवास के बाद अपनी धमाकेदार वापसी की है. राज्य चुनाव में सपा एवं बसपा जैसे क्षेत्रीय दलों की सीट संख्या काफी सिकुड़ गयी. पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों को मोदी की लोकप्रियता एवं नोटबंदी पर एकतरह से जनादेश माना जा रहा था. 

बहरहाल, भाजपा ने उप्र में सत्तारूढ़ सपा, उसके गठबंधन सहयोगी कांग्रेस एवं मायावती की बसपा काफी कम सीटों पर समेट दिया. पंजाब में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अगुवाई में कांग्रेस ने 10 वर्ष बाद सत्ता में वापसी की है. पार्टी ने 77 सीटें जीतीं जो दो तिहाई बहुमत से महज एक सीट कम है.

राज्य में पार्टी की जीत अमरिन्दर के लिए जन्मदिन का तोहफा है जो आज 75 वर्ष के हुए. इन चुनाव में कांग्रेस ने न केवल सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन बल्कि अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदर्मी पार्टी को सीट संख्या के मामले में काफी पीछे छोड़ दिया. आप पंजाब चुनाव में अपनी स्पष्ट जीत की उम्मीद कर रही थी.

पार्टी नेताओं ने इस सफलता का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया. मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने 2014 के संसदीय चुनाव की तरह इस बार भी भारी सफलता पाने के लिए कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर कड़ी मशक्कत की. नेशनल कांफ्रेन्स नेता उमर अब्दुल्ला ने आज के नतीजों को सुनामी करार दिया और भविष्यवाणी की कि भाजपा न केवल 2019 बल्कि 2024 में भी संसदीय चुनाव जीतने की स्थिति में है.

उत्तर प्रदेश में चुनावी रणनीति को बनाने एवं उसे अंजाम देने वाले शाह ने कहा कि इस जीत ने मोदी को आजादी के बाद सबसे बड़े नेता का दर्जा प्रदान कर दिया है.
भाजपा प्रमुख शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जीत का एक मात्र कारण मोदी सरकार का कामकाज रहा. नतीजों ने मोदी में गरीब लोगों के भरोसे को दिखा दिया है. उनके राजनीतिक विरोधियों तक को स्वीकार करना होगा कि देश की आजादी के बाद वह सबसे बड़े नेता बनकर उभरे हैं.’ 

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘यह मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त शासन एवं गरीब समर्थक नीतियों की जीत है.’ उत्तराखंड में भाजपा को 57 सीटें मिली है तथा वह एक सीट पर आगे चल रही है. कांग्रेस 11 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर है. कांग्रेस के मुख्यमंत्री हरीश रावत दोनों सीटों से चुनाव हार गये.

कांग्रेस 117 सदस्यीय पंजाब विधानसभा में 77 सीटें जीतकर स्पष्ट रूप से विजेता है. भाजपा तीन सीटों के साथ चौथे स्थान पर रही. आप 22 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर है. अकाली दल को 15 सीटें मिली हैं. मणिपुर की 60 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 21 और कांग्रेस ने 28 सीटों पर जीत दर्ज की है. टीएमसी को एक सीट मिली है जबकि अन्य के खाते में 10 सीटें गईं हैं. गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा में 17 सीटे कांग्रेस ने जीती हैं और भाजपा को 13 सीटों पर जीत मिली है. 10 सीटें अन्य दलों के खाते में गई है. मणिपुर और गोवा में कोई भी दल बहुमत हासिल नहीं कर पाई है.

भाजपा ने उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड में अपना कोई मुख्यमंत्री प्रत्याशी घोषित नहीं किया था. भाजपा संसदीय बोर्ड एवं राज्य में विधायक दल की बैठक में रविवार को मुख्यमंत्री का चुनाव किया जाएगा. उत्तर प्रदेश की निर्वतमान विधानसभा में भाजपा की महज 47 सीटें हैं. इस चुनाव में पार्टी को 40 प्रतिशत वोट मिले हैं. पार्टी ने यह चुनाव एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को उतारे बिना जीता है.

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने स्वीकार किया कि पार्टी की बड़ी पराजय हुई है. उन्होंने कहा, ‘हां, उत्तर प्रदेश में बड़ा नुकसान हुआ है, इसने आहत किया है. मैं सहमत हूं कि यूपी में हमें समग्रता से कांग्रेस के लिए बुनियादी पुनर्गठन करना है. रणनीति को लेकर कड़े, कठोर निर्णय करने चाहिए.’ 

कांग्रेस के एक अन्य नेता शकील नेता ने पार्टी के खराब प्रदर्शन का कारण जनता का मूड बताया. उन्होंने कहा कि पार्टी के प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी. भाजपा ने इससे पहले अपना सर्वोत्तम प्रदर्शन 1991 में राम जन्मभूमि की लहर के दौरान किया था जब अविभाजित राज्य की 425 सीटों में से उसे अपने बूते 221 सीटें मिली थी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.