रूस से 200 कामोव हेलीकॉप्‍टर खरीद पर हो सकता है बड़ा फैसला, चीन-पाक से ले सकता है कड़ी टक्‍कर

कामोव केए-226 (Kamov Ka-226) हेलीकॉप्‍टर: भारत को इन हल्के हेलीकॉप्टर की जरूरत अपने पुराने चेतक और चीता हेलीकाप्टर को बदलने के लिए है. सूत्रों के मुताबिक, भारत को सेना (Indian Army) और वायुसेना (Indian Air Force)के लिए 200 हेलीकॉप्टर की जरूरत है.

रूस से 200 कामोव हेलीकॉप्‍टर खरीद पर हो सकता है बड़ा फैसला, चीन-पाक से ले सकता है कड़ी टक्‍कर
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली/मॉस्‍को : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के रूस (Russia) दौरे में भारत (India) और उसके इस मित्र देश के बीच कामोव केए-226 (Kamov Ka-226) हेलीकॉप्‍टर के सौदे में बड़े फैसले की संभावना है. भारत को इन हल्के हेलीकॉप्टर की जरूरत अपने पुराने चेतक और चीता हेलीकाप्टर को बदलने के लिए है. सूत्रों के मुताबिक, भारत को सेना (Indian Army) और वायुसेना (Indian Air Force)के लिए 200 हेलीकॉप्टर की जरूरत है.

कामोव हेलीकॉप्टर 20,000 फीट की ऊंचाई तक उड़ सकता है, इसलिए यह सियाचिन जैसी जगह पर कारगर होगा, जहां चेतक और चीता हेलीकॉप्टर काम आ रहे हैं. ये हल्का हेलीकॉप्टर है और ये एक बार में चार से छह ट्रूप ले जा सकता है. ‌ये एक बार में एक टन लोड भी ले जा सकता है. 

LIVE TV...

कामोव हेलीकॉप्टर को हर मौसम में काम करने लायक बनाया गया है. सूत्रों के मुताबिक इस सौदे के हो जाने पर 60 हेलीकाप्टर रूस में बनेंगे और बाकी को भारत में बनाया जाएगा. भारतीय नौसेना पहले से ही कामोव 28 और कामोव 31 कामोव हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल कर रही है.