जेडीयू, बीजेपी, एलजेपी जब-जब साथ आई हैं, हमारी जीत हुई है: जेपी नड्डा

बीजेपी कार्यकर्ताओं से अपील है कि सिर्फ बीजेपी को नहीं जिताना है बल्कि सहयोगियों को भी जिताना होगा.

जेडीयू, बीजेपी, एलजेपी जब-जब साथ आई हैं, हमारी जीत हुई है: जेपी नड्डा
फाइल फोटो

पटना: बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने रविवार को कहा कि हम बिहार (Bihar) के विषय में सब जानते हैं. देश की राजनीति में हमेशा से ही बिहार का एक विशेष स्थान रहा है. फिर चाहे वो राजनीतिक विषय हो, सामाजिक या सांस्कृतिक, बिहार ने हर क्षेत्र में नेतृत्व किया है. उन्होंने आगे कहा कि बिहार ने राजनीतिक और सामाजिक चेतना को बहुत ही ऊपर रखा है. जब हम चंपारण सत्याग्रह या नवनिर्माण आंदोलन को याद करते हैं तो हमें पता लगता है जब सभी ने समझौता कर लिया था, तब बिहार ने नेतृत्व दिया था.

उन्होंने आगे बताया कि बीजेपी अकेली पार्टी रही है जिसने संक्रमण काल में लोगों से खुद को जोड़कर रखा है. जेडीयू, बीजेपी, एलजेपी जब-जब साथ आई हैं, हमारी जीत हुई है. इस बार भी हमें जीत हासिल होगी. बीजेपी कार्यकर्ताओं से अपील है कि सिर्फ बीजेपी को नहीं जिताना है बल्कि सहयोगियों को भी जिताना होगा.

नड्डा ने बताया कि कोविड का संक्रमण इस साल तक रहेगा, इसलिए अपनी सुरक्षा जरूरी है. डोर-टू-डोर कैंपेन ही कारगर होगा इसमें हमें समाज के सभी वर्ग तक जाना होगा. 6 सितंबर तक बिहार में लॉकडाउन की स्थिति रहेगी. उसी के बाद मैं बिहार दौरे पर आऊंगा. बीजेपी अध्यक्ष ने घोषणा करते हुए कहा कि बिहार दौरे के वक्त वो जनता को पीएम पैकेज की पूरी स्थिति की जानकारी देंगे. आखिर में उन्होंने विपक्ष के निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के पास न विचार है न दृष्टि. विपक्ष सिर्फ खोखला है. बिहार की जनता को आशा बीजेपी से है, एनडीए से है.

इस दौरान नड्डा ने कोरोना महामारी का जिक्र करते हुए कहा कि ये ऐसी बीमारी है जिसे भूतकाल में किसी ने नहीं देखा था. विकसित से विकसित देशों ने भी कोरोना संकट में खुद को असहाय समझा. ऐसे समय में मोदी जी ने स्पष्ट कहा कि जान है, तो जहान है. 130 करोड़ देशवासियों को सुरक्षित करने के लिए उन्होंने समय पर लॉकडाउन का फैसला लिया. 

ये भी पढ़ें:- Bihar Election 2020: BJP के चुनावी नारे का ऐलान, भूपेंद्र यादव ने तेजस्वी पर साधा निशाना

उन्होंने बताया कि बिहार का रिकवरी रेट आज 73.48 प्रतिशत हो गया है. करीब 10 करोड़ डोर-टू-डोर स्क्रिनिंग बिहार में की गई है. राज्य में 35 हजार से बढ़कर आज 1 लाख टेस्ट हो रहे हैं, इसके लिए में बिहार सरकार को बधाई देता हूं. उन्होंने आगे बताया कि पीएम ने एक लाख 70 हजार करोड़ का पैकेज देकर गरीब कल्याण योजना लागू की है. 

उन्होंने आत्मनिर्भर भारत अभियान का जिक्र करते हुए आगे कहा कि ये तब सफल होगा जब हम मजफ्फरपुर की लीची के लिए काम करेंगे, सिल्क के लिए काम करेंगे, मखाना उद्योग को सफल बनाएंगे. नड्डा ने कहा कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को बिहार कार्यकारिणी के एक-एक सदस्य समझें और टास्क फोर्स बनाकर इसे लोगों तक पहुंचाएं. उन्होंने बताया कि जब मैंने NEET लागू किया था, तब इसका विरोध हुआ था, लेकिन आज लोगो ने उसे एक्सेप्ट किया है. अब रट्टा लगाने की जरूरत नहीं है. नई एजुकेशन पॉलिसी के तहत स्टूडेंट्स को अब सब्जेक्ट समझना होगा. 

ये भी पढ़ें:- भारत में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 30 लाख के पार, पिछले 24 घंटों में मिले 69,239 मरीज

आत्मनिर्भर भारत से देश को आगे बढ़ाने का प्रयास किया गया है. 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज का ऐलान करते हुए 3 लाख करोड़ रुपये एमएसएमई सेक्टर को दिया है. इसमें से 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा वितरित भी कर दिए गए हैं. कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपये दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि लगभग 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आसान और रियायती क्रेडिट देना सरकार ने तय किया है. इसके लिए किसानों को प्रेरित करना भी हमारा ही काम है.

उन्होंने कहा कि 15 अगस्त को लाल किले की प्रचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने डिजिटल हेल्थ केयर (Digital Health Care) की बात की है. देश में आप कहीं भी चले जाएं, आपके डिजिटल हेल्थ कार्ड में आपके स्वास्थ्य की पूरी जानकारी होगी, इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी क्रांति आएगी. मुझे इस बात की खुशी है कि बिहार ने कोविड संकट, चाहे बिजली गिरने से लोग हताहत हुए वो संकट हो और बाढ़ राहत के कार्यों में आप सब लोगों ने बहुत अच्छा कार्य किया है. 

ये भी पढ़ें:- बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर तैयार BJP का प्लान, 27 सितंबर से सभी नेता करेंगे जनसंपर्क

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.