बीजेपी ने नहीं दिया मनोहर पर्रिकर के बेटे को टिकट, उपचुनाव के लिए 3 उम्‍मीदवार घोषित

लोकसभा चुनाव 2019 के साथ ही गोवा और कर्नाटक में कुल 3 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. गोवा की पणजी सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा ने पूर्व विधायक को टिकट दिया है.

बीजेपी ने नहीं दिया मनोहर पर्रिकर के बेटे को टिकट, उपचुनाव के लिए 3 उम्‍मीदवार घोषित

पणजी: भारतीय जनता पार्टी ने पणजी में 19 मई को होने वाले उप चुनाव के लिए पूर्व विधायक सिद्धार्थ कुंकोलिएंकर को उम्मीदवार बनाया है. इस सीट से गोवा के पूर्व मख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर मुख्यमंत्री थे जिनका 17 मार्च को निधन हो गया था. उनके निधन के कारण यह सीट खाली हुई थी, जिस पर उप चुनाव कराया जा रहा है.

इस बात की अटकलें लगायी जा रही थीं कि पर्रिकर के बड़े बेटे उत्पल को टिकट दिया जाएगा. बीजेपी की वेबसाइट पर सिद्धार्थ को टिकट दिये जाने संबंधी बयान ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है.

इसके साथ ही बीजेपी ने कर्नाटक में दो सीटों के लिए होने वाले विधानसभा उपचुनावों के लिए पार्टी के उम्‍मीदवार घोषित कर दिए हैं. कर्नाटक में चिंचोली से अविनाश जाधव को और कुंडगोल से एसआई चिक्‍कनगोदर को मैदान में उतारा है.

भाजपा के केंद्रीय चुनाव समिति के सदस्य जगत प्रकाश नड्डा ने रविवार दोपहर बाद उनकी उम्मीदवारी का ऐलान किया. गोवा में 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट से सिद्धार्थ ही विजयी हुए थे. बाद में उन्होंने पर्रिकर के लिए यह सीट छोड़ दी थी. पर्रिकर उस समय रक्षा मंत्री थे और उन्हें गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया था.

उम्‍मीद जताई जा रही थी कि बीजेपी पणजी सीट से पर्रिकर के बेटे को मैदान में उतार सकती है. हालांकि जब तक मनोहर पर्रिकर थे, उनके बेटे राजनीति से दूर थे, लेकिन उनके निधन के बाद माना जा रहा था कि वह उनके बड़े बेटे उत्‍पल उनके वारिस बन सकते हैं. लेकिन बीजेपी आलाकमान ने ऐसा नहीं किया.

कुछ परिवार भी हो चुके हैं मायूस
ऐसा पहली बार नहीं है, जब पार्टी ने किसी नेता की अनुपस्‍थि‍ति में उसके परिजन को नजरअंदाज किया है. कर्नाटक में अनंत कुमार की जगह उनकी पत्‍नी को भी पार्टी ने टिकट नहीं दिया. इंदौर सीट पर सुमित्रा महाजन की जगह उनके किसी परिजन को टिकट नहीं दिया गया.

input : Bhasha