सीक्रेट जानकारी लीक करने के आरोप में NAVY के कमांडर समेत 5 को CBI ने किया गिरफ्तार
X

सीक्रेट जानकारी लीक करने के आरोप में NAVY के कमांडर समेत 5 को CBI ने किया गिरफ्तार

सीक्रेट जानकारी लीक करने के मामले में सीबीआई ने NAVY के एक कमांडर समेत 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले सीबीआई केस की जांच करते हुए 19 जगहों पर रेड करके सबूत इकट्ठा किए थे. 

सीक्रेट जानकारी लीक करने के आरोप में NAVY के कमांडर समेत 5 को CBI ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने रिश्वत के बदले सबमरीन प्रोजेक्ट से जुड़ी सीक्रेट जानकारी लीक करने के आरोप में भारतीय नौसेना (Navy) के एक कमांडर रैंक के सर्विंग ऑफिसर (जो फिलहाल मुंबई में पोस्टेड थे) समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें से दो लोग नेवी के रिटायर्ड अधिकारी हैं. इन सभी पर भारतीय दंड संहिता (IPC) और एंटी करप्शन लॉ के तहत कार्रवाई की गई है.

नेवी अफसरों ने की थी जांच

रिटायर्ड अफसरों के लिए किलो ग्लास सबमरीन मॉडर्नाइजेशन प्रोजेक्ट (Kilo Glass Submarine Modernisation Project to Retired Officers) से जुड़ी कॉन्फिडेंशियल इंफॉर्मेशन लीक करने का ये मामला पिछले महीने भारतीय नौसेना के सीनियर अफसरों के सामने आया था. जिसके बाद नेशनल सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने इसमें हस्तक्षेप किया और नेवी के 5 बड़े अफसरों को इसकी जांच की जिम्मेदारी दी गई. इन पांच लोगों की टीम को वाइस एडमिरल रैंक के अफसर हेड कर रहे थे. 

ये भी पढ़ें:- अब बच्चों को बाइक पर बिठाने से पहले जरा ठहरें, सरकार लेकर आ रही ये नए नियम!

19 जगहों पर हुई थी सीबीआई की रेड

इन्हीं अफसरों की रिपोर्ट सीबीआई को सौंपी गई, जिसके बाद एजेंसी ने मामला दर्ज किया और ये 5 गिरफ्तारियां की. सीबीआई ने इस मामले में अभी तक कुल 19 जगह रेड की, जिसमें दिल्ली, मुंबई, नोएडा, हैदराबाद समेत कई जगह शामिल हैं. इन रेड्स के दौरान केस से जुड़े कई अहम दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस सीबीआई को मिले, जिन्हें सीज कर लिया गया. फिलहाल सीबीआई इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें:- इस देश में फिर कहर बरपाने लगा कोरोना, Lockdown का ऐलान; बंद होने लगे स्कूल

'एजेंसी को मिलेगा नेवी का पूरा सपोर्ट'

सीबीआई अफसरों ने बताया कि इस मामले में कई अन्य अधिकारियों और पूर्व अधिकारियों से पूछताछ की गई है जो गिरफ्तार किए गए अधिकारी और रिटायर्ड अधिकारियों के लगातार संपर्क में थे. वहीं, नौसेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, 'प्रशासनिक और कमर्शियल नेचर की जानकारी के कथित तौर पर लीक होने के मामले से संबंधित जांच सामने आई है और सरकार की संबंधित एजेंसी इसकी पड़ताल कर रही है. इस जांच में एजेंसी को नौसेना का पूरा सहयोग मिलेगा.'

LIVE TV

Trending news